Thu. Aug 18th, 2022

बाराबंकी के डीएम और सीडीओ पर उत्पीड़न का आरोप


-प्रताड़ना से पेरशाने बीडीओ ने इस्तीफे की पेशकश की, शासन ने लिया संज्ञान, जांच के दिए आदेश

लखनऊ, 04 अगस्त(हि.स.)। जिलाधिकारी बाराबंकी और सीडीओ पर उत्पीड़न का आरोप लगा है। जिले के इन आलाधिकारियों पर रामनगर ब्लॉक के खण्ड विकास अधिकारी (बीडीओ) अमित त्रिपाठी ने यह आरोप लगाया है। शासन ने अमित की शिकायत को गंभीरता से लिया और जांच के निर्देश दिए हैं।

अपर मुख्य सचिव ग्राम्य विकास मनोज कुमार सिंह ने ग्राम्य विकास आयुक्त को उक्त अधिकारियों पर लगे आरोपों की जांच कर रिपोर्ट प्रस्तुत करने निर्देश दिए हैं।

बीडीओ अमित त्रिपाठी ने सीडीओ को पत्र लिखकर खण्ड विकास अधिकारी के पद से त्यागपत्र देने की पेशकश की है। बीडीओ ने आरोप लगाया है कि जिलाधिकारी और मुख्य विकास अधिकारी ने उन्हें मानसिक रूप से प्रताड़ित किया है। बार-बार उन्हें अपमानित किया जा रहा है। इससे परेशान होकर वह पद से त्याग पत्र दे रहे हैं।

पत्र में कहा गया है कि बीडीओ अमित का स्थानांतरण राम नगर ब्लॉक से पूरे दलई कर दिया गया। सांसद और विधायक के कहने पर बीडीओ को पुन: रामनगर ब्लॉक के बीडिओ पद पर भेज दिया गया। इसके बाद जिलाधिकारी के कैम्प कार्यालय से बीडीओ को बुलाया गया। वहां पर जिलाधिकारी और सीडीओ ने मिलकर बीडीओ की डांट लगायी। आरोप है कि अंजाम भुगतने की बात भी कही गयी। जबकि पीड़ित का कहना है कि उन्होंने किसी भी जनप्रतिनिधि से स्थानांतरण रुकवाने की पैरवी नहीं करवाई है। उन्होंने(जनप्रतिनिधि) क्यों कहा, यह भी उन्हें नहीं मालूम है। अब पीड़ित को विभिन्न प्रकार से प्रताड़ित किया जा रहा है। जिलाधिकारी और मुख्य विकास अधिकारी की प्रताड़ना बर्दाश्त से बाहर है। लिहाजा वह त्याग पत्र दे रहे हैं।