Thu. Sep 29th, 2022

फुटबॉल को लोकप्रिय बनाने के लिए सरकार देगी भरपूर सहयोग: कल्याण चौबे


कोलकाता, 20 सितंबर (हि.स.)। अखिल भारतीय फुटबॉल महासंघ (एआईएफएफ) की कार्यकारी समिति के सदस्यों को सोमवार को सूचित किया गया है कि फीफा अध्यक्ष गियानी इन्फेंटिनो भारतीय फुटबॉल के भविष्य पर चर्चा के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिलने के लिए भारत आ सकते हैं।

यह जानकारी सोमवार को संगठन की कार्यकारी समिति की बैठक के दौरान दी गई, जिसकी अध्यक्षता एआईएफएफ अध्यक्ष कल्याण चौबे ने की।

बैठक सोमवार को हुई। इसमें उपाध्यक्ष एनए हारिस, महासचिव डॉ शाजी प्रभाकरन, कोषाध्यक्ष किपा अजय और सुनंदो धर ने भाग लिया।

बैठक में एआईएफएफ अध्यक्ष ने सरकार और कतर फुटबॉल संघ के साथ अपनी विकास वार्ता के बारे में समिति को सूचित करके कार्यवाही की शुरुआत की।

उन्होंने कहा, सरकार फ़ुटबॉल को लोकप्रिय बनाने में मदद करने के लिए बड़े पैमाने पर समर्थन देने जा रही है। हमारी योजना 30 शहरों में अंडर-17 महिला फ़ुटबॉल प्रतियोगिताएं आयोजित करने की है, जहां युवा लड़कियां खेल सकती हैं और खेल के बारे में सीख सकती हैं। हमें उम्मीद है कि इस तरह की पहल आगे और भी की जाएगी।

उन्होंने ने कहा, हमने कतर फुटबॉल संघ के साथ भी सार्थक बातचीत की है और वे भारत में फुटबॉल के विकास के संबंध में विभिन्न क्षेत्रों में हमारी मदद करने जा रहे हैं।

राष्ट्रीय पुरस्कारों के संबंध में, समिति ने सिफारिश की कि अरुण घोष, शब्बीर अली और आईएम विजयन को पद्म श्री, मनोरंजन भट्टाचार्य को मेजर ध्यानचंद पुरस्कार और जेजे लालपेखलुआ को अर्जुन पुरस्कार के लिए नामांकित किया जाए।

कार्यकारी समिति ने वरिष्ठ पुरुष टीम के मुख्य कोच इगोर स्टिमैक के अनुबंध को एएफसी एशियाई कप 2023 के अंत तक बढ़ाने की तकनीकी समिति की सिफारिश का समर्थन किया। समिति ने यह भी सिफारिश की कि कोच का अनुबंध स्वचालित रूप से नवीनीकृत होना चाहिए।

सभी आयु समूहों में भारतीय कोचों का उपयोग करने, भारतीय एरोज परियोजना को बंद करने और इसे एलीट यूथ लीग के साथ बदलने और महिला राष्ट्रीय टीमों के लिए अधिक महिला कोच नियुक्त करने के लिए तकनीकी समिति की सिफारिशों का भी कार्यकारी समिति द्वारा समर्थन किया गया।

कार्यकारी समिति ने भारत में स्काउटिंग नेटवर्क का विस्तार करने का भी निर्णय लिया।

कोलकाता में राष्ट्रीय उत्कृष्टता केंद्र के विभिन्न पहलुओं को देखने और राष्ट्रीय टीमों के ज्यादा उपयोग के लिए परियोजना को आगे बढ़ाने के तरीके पर एक रिपोर्ट प्रस्तुत करने के लिए उपाध्यक्ष एनए हारिस की अध्यक्षता में एक तीन सदस्यीय समिति का गठन भी किया गया है।

बैठक में कार्यकारी समिति के सदस्य लालनघिंग्लोवा हमार, दीपक शर्मा, मेनला एंथेनपा, जीपी पालगुना, विजय बाली, सैयद हुसैन अली नकवी, नीबौ सेखोसे, अविजीत पॉल, अनिल कुमार पी, वलंका नताशा अलेमाओ, मालोजी राजे छत्रपति, मोहन लाल, सैयद इम्तियाज हुसैन, आरिफ अली, भाईचुंग भूटिया, आईएम विजयन, क्लाइमेक्स लॉरेंस, थोंगम तबाबी देवी, पिंकी बोम्पल मगर भी उपस्थित थे।

बैठक में विशेष आमंत्रित के रूप में उपस्थित अन्य लोगों में जीएसएफए सचिव मूलराज सिंह चुडासमा, केएसएफए महासचिव सत्य नारायण, आईएफए अध्यक्ष अजीत बनर्जी और एफएसडीएल के वरिष्ठ अधिकारी मार्टिन बैन और जीएम चिराग तन्ना शामिल थे।