Fri. May 27th, 2022

प्रधानमंत्री नरेंन्द्र मोदी रविवार को पहुंच रहे जम्मू, राज्य में 38 हजार करोड़ के औद्योगिक निवेश प्रस्तावों को देंगे अंतिम रूप


जम्मू, 23 अप्रैल (हि.स.)। कड़ी सुरक्षा के बीच प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 24 अप्रैल यानि रविवार को जम्मू संभाग के सांबा के पल्ली गांव में पहुंच रहे हैं। पल्ली में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी न केवल देशभर के पंचायत प्रतिनिधियों को संबोधित करेंगे बल्कि खाड़ी देशों से आए लगभग एक दर्जन राजनयिकों और निवेशकों की मौजूदगी में जम्मू-कश्मीर में 38 हजार करोड़ रुपये के औद्योगिक निवेश के प्रस्तावों को भी अंतिम रूप देंगे।

प्रदेश में अवसंरचना, सूचना प्रौद्योगिकी, हास्पिटैलिटी, रियल इस्टेट और खाद्य संवर्धन में निवेश करने जा रहे खाड़ी देशों के निवेशक शुक्रवार दोपहर बाद चार्टर्ड विमान से श्रीनगर पहुंच गए हैं और यह सभी शनिवार शाम या रविवार की सुबह जम्मू आ जाएंगे।

भारत में संयुक्त अरब अमीरात के राजदूत डॉ. अहमद अलबन्ना के नेतृत्व में आने वाले इस प्रतिनिधिमंडल में डीपी वर्ल्ड ग्रुप चेयरमैन व सीईओ सुल्तान अहमद बिन सुलेयम, डीपी वर्ल्ड ग्रुप में सरकारी मामले विभाग के उपाध्यक्ष उमर अल मुहैरी, एम्मार प्रापर्टीज के संस्थापक एवं प्रबंध निदेशक मोहम्मद अली अल अब्बार, एम्मार प्रापर्टीज के ग्रुप सीईओ अमित जैन, एस्सा अल घुरैर इन्वेस्टमेंट के अध्यक्ष एस्सा अब्दुला बिन अहमद अल घुरैर, लुलु ग्रुप के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक युसुफ अली एमए, अबू धाबी कैपिटल ग्रुप के अध्यक्ष व सीईओ अबुबकर अलखौरी, रायल स्ट्रेटेजिक पार्टनर्स के सीईओ हमद अल-अली, विज फाइनेंशियल के ग्रुप चेयरमैन आमीर नागम्मी, प्रिज्म ग्रुप के सीईओ सुल्तान अल-अहबाबी और अल माया समूह के अध्यक्ष कमल वाचानी शामिल हैं।

राष्ट्रीय पंचायती राज दिवस पर 24 अप्रैल को सांबा जिले की पल्ली पंचायत में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की रैली तक लोगों को पहुंचाने के लिए 1700 बसें लगाई जाएंगी। इन बसों से पंचायत प्रतिनिधियों, केंद्रीय कल्याणकारी योजनाओं के लाभार्थियों समेत अन्य लोगों को लाया जाएगा। रैली में करीब एक लाख लोगों के पहुंचने का अनुमान है।

पांच अगस्त 2019 को जम्मू-कश्मीर राज्य के पुनर्गठन के बाद मोदी का यह जम्मू-कश्मीर का पहला अधिकारिक दौरा और पहला सार्वजनिक कार्यक्रम है। प्रधानमंत्री वर्ष 2020 और 2021 में सैन्यकर्मियों के साथ दिवाली मनाने जरूर आ चुके हैं। पल्ली में हो रही रैली से वह देशभर के पंचायत प्रतिनिधियों को वर्चुअल मोड से संबोधित करेंगे। रैली को सफल बनाने के लिए भाजपा पूरी तरह सक्रिय है तो वहीं सरकारी विभाग भी तत्पर हैं।

रैली में ग्रामीण विकास विभाग, ग्रामीण आजीविका मिशन, कौशल विकास विभाग, स्वास्थ्य विभाग, उद्योग एवं वाणिज्य विभाग और युवा मिशन अपनी उपलब्धियों पर प्रदर्शनी लगा रहे हैं। प्रधानमंत्री इस प्रदर्शनी को भी देखेंगे। उद्योग एवं वाणिज्य विभाग द्वारा शुरू की गई योजनाओं और प्रदेश में देश विदेश के पूंजी निवेशकों के प्रस्तावों को भी अंतिम मंजूरी दी जाएगी।

इस दौरान करीब 11 हजार पंचायत प्रतिनिधि प्रदेश के विभिन्न भागों से पल्ली पहुंच रहे हैं। करीब एक हजार गणमान्य नागरिकों और बुद्धिजीवियों को भी विशेष रूप से आमंत्रित किया गया है। केंद्रीय कल्याणकारी योजनाओं से लाभान्वित हुए लगभग 15-20 हजार लोग और युवा क्लबों के सदस्य भी पहुंच रहे हैं। वन रैंक वन पेंशन से लाभान्वित सांबा जिले में रहने वाले पूर्व सैनिकों का एक बड़ा वर्ग भी रैली में भाग ले रहा है।

सुंजवा में सीआईएसएफ की बस पर आतंकी हमले और इसके बाद दो पाकिस्तानी आत्मघाती हमलावर आतंकियों को मार गिराने के बाद पल्ली तथा इसके आसपास के क्षेत्रों में जमीन से लेकर हवाई मार्ग तक की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। प्रशासन ने जम्मू समेत पूरे प्रदेश में सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी है। सभी संवेदनशील इलाकों में पुलिस व सीआरपीएफ के जवानों की गश्त बढ़ा दी गई है। विशेष नाके भी लगाए गए हैं। एसपीजी ने रैली स्थल को अपनी निगरानी मे ले लिया है। रैली स्थल के आसपास पुलिस व सीआरपीएफ की गश्त बढ़ा दी गई है।

जम्मू में ही नहीं पूरी वादी में सुरक्षा व्यवस्था की समीक्षा कर उसे और पुख्ता बनाया गया है। लखनपुर-जम्मू-श्रीनगर और जम्मू-पुंछ हाईवे समेत सभी प्रमुख सड़कों और विभिन्न शहरों में आने जाने के सभी रास्तों पर विशेष नाके लगाए गए हैं।

रैली के समय बड़ी संख्या में सादी वर्दी में पुलिस के सीआईडी विंग के अधिकारी भी मौजूद रहेंगे। पुलिस व सीआरपीएफ के क्विक एक्शन व रिएक्शन दस्तों को प्रदेश भर में तैनात किया गया गया है। सभी सुरक्षा शिविरों, पुलिस थानों और महत्वपूर्ण प्रतिष्ठानों की सुरक्षा भी बढ़ाई गई है।