Sun. Jun 26th, 2022

पाकिस्तानी आतंकी पर पाबंदी की भारतीय-अमेरिकी कोशिशों को चीन ने रोका


-संयुक्त राष्ट्र में वैश्विक आतंकी नहीं घोषित हो सका बीस लाख डॉलर का इनामी मक्की

न्यू यॉर्क, 17 जून (हि.स.)। पाकिस्तानी आतंकी पर पाबंदी की भारतीय-अमेरिकी कोशिशों को चीन ने रोक दिया है। भारत ने अमेरिका के साथ संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में पाकिस्तानी आतंकी अब्दुल रहमान मक्की को वैश्विक आतंकी घोषित करने का प्रस्ताव प्रस्तुत किया था, किन्तु चीन ने अपने वीटो पावर का इस्तेमाल करते हुए इस प्रस्ताव को रोक दिया है। इस तरह चीन ने एक बार फिर आतंकवाद पर पाकिस्तान का साथ देते हुए भारत व अमेरिका की कोशिशों पर पानी फेर दिया है।

भारत और अमेरिका की ओर से संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की अल-कायदा प्रतिबंध समिति के तहत पाकिस्तान स्थित आतंकवादी अब्दुल रहमान मक्की को वैश्विक आतंकी घोषित करने के लिए प्रस्ताव लाया गया था। मक्की मुंबई के चर्चित आतंकी हमले के मास्टर माइंड व लश्कर ए तैयबा के प्रमुख हाफिज सईद का साला है। उसके सिर पर बीस लाख डॉलर का इनाम है और उसे जमात-उद-दावा के प्रमुख का प्रभार भी दिया गया है। मक्की को वैश्विक आतंकी घोषित करने के भारत और अमेरिका के संयुक्त प्रस्ताव पर चीन ने अंतिम समय पर अड़ंगा लगा दिया गया है।

सुरक्षा परिषद के पांच स्थायी सदस्यों अमेरिका, ब्रिटेन, चीन, फ्रांस और रूस के पास वीटो का अधिकार है। इनमें से किसी एक ने भी परिषद के किसी प्रस्ताव के विपक्ष में वोट डाला तो वह प्रस्ताव पारित नहीं होता है। चीन ने इसी वीटो का प्रयोग करते हुए मक्की को वैश्विक आतंकी घोषित करने का प्रस्ताव रोक दिया है।