Mon. May 23rd, 2022

नवादा जिले का चहुमुखी विकास कि हमारी प्राथमिकता : डीएम


-डीएम ने किया योगदान, कहा चुनौतियों से भरा है जिला

नवादा, 10 मई (हि.स.)।नए जिलाधिकारी के रूप में उदिता सिंह ने मंगलवार को योगदान दिया। उन्होंने कहा कि जिले का चहुमुखी विकास यह हमारा लक्ष्य है। मुझे पता है कि यह जिला चुनौतियों से भरा है लेकिन बेहतर करके मिली चुनौतियों पर खरा उतरूंगी वह प्रभार ग्रहण के बाद पत्रकारों से बातचीत कर रही थी ।

उन्होंने कहा कि जन सहयोग से सारी समस्याओं का निदान कर लिया जाएगा ।निवर्तमान डीएम यशपाल मीणा भी मौजूद रहे। इसके अलावा जिला प्रशासन के कई अधिकारी वहां मौजूद थे। इसके पूर्व एडीएम ने गुलदस्ता देकर उनका स्वागत किया। नवादा की चौथी महिला डीएम के रूप में इन्होंने पदभार संभाला है। इसके पूर्व एन विजय लक्ष्मी, डॉ. सफीना एएन, अश्विनी दत्तात्रेय ठकरे यहां की डीएम रह चुकी हैं। 1973 में जिला बनने के बाद 41वें डीएम के रूप में कामकाज संभाला।उल्लेखनीय है कि 7 मई की रात कई जिले के डीएम का तबादला-पदस्थापन किया गया था। नवादा में उदिता सिंह जो कि वैशाली की डीएम थीं का पदस्थापन किया गया था।

योगदान के बाद मीडिया से मुखातिब होते हुए डीएम ने कहा कि चुनौतियों से निपटा जाएगा। यह जिला चुनौतियों से भरा है। जो भी चुनौतियां आएगी उससे निपटा जाएगा। जिले के सर्वांगीन विकास के लिए काम किया जाएगा। स्वास्थ्य, शिक्षा, समाज कल्याण, निर्माण कार्यों की ओर ध्यान दिया जाएगा। जो भी समस्याएं होगी उसके लिए काम किया जाएगा।

इन चुनौतियों से होगा निपटना

नए डीएम के समक्ष कई चुनौतियां है, जिससे उन्हें निपटना होगा। सबसे पहले तो उन्हें प्रशासन के बीच उभरे अविश्वास के माहौल को खत्म करना होगा। स्थानांतरित डीएम यशपाल मीणा के कार्यकाल के अंतिम दिनों में काफी किच-किच हुआ था। प्रशासनिक महकमा में कुछ भी ठीक नहीं रहा था।

विकास की बात करें तो आकांक्षी जिले में नवादा शामिल है। ऐसे में केंद्र व राज्य सरकार की योजनाओं को प्राथमिकता के आधार पर पूरा कराना होगा। यह तभी संभव होगा जब अधिकारी वर्ग में समन्वय के साथ काम होगा। पब्लिक के साथ का संवाद भी प्रशासनिक तंत्र के लिए महत्वपूर्ण होता है। उनकी समस्याओं व शिकायतों पर भी गौर करना होगा।

कुछ विभागों की खामियों को दूर करना होगा। खासकर स्वास्थ्य सेवाओं का लाभ आम नागरिकों को मिले, इसके लिए विशेष जतन करना होगा। मनरेगा में व्याप्त भ्रष्टाचार को दूर कर मजदूरों को काम मिले यह सुनिश्चित करना होगा। छोटी-छोटी समस्याओं को दूर करने का प्रयास होगा।