Thu. Aug 18th, 2022

दिल्ली पुलिस के महिला सुरक्षा के दावे फेल, क्रूरता,रेप सहित अन्य अपराध बढ़े


नई दिल्ली, 06 अगस्त (हि.स.)। राजधानी दिल्ली में अपराध का ग्राफ कम होने का नाम नहीं ले रहा है। ऐसे में एक तरफ जहां दिल्ली में स्ट्रीट क्राइम (सड़क पर होने वाले अपराध) तेजी से बढ़ रहा है, वहीं महिला सुरक्षा को लेकर पुलिस के द्वारा किये गये सारे दावे भी फेल होते नजर आ रहे है। दिल्ली पुलिस द्वारा जारी आंकड़ो को देखे तो पता चलता है कि महिलाओं के प्रति हो रहे अपराधों में रेप, छेड़छाड़, महिला का अपहरण एवं दहेज के लिये हत्या के सभी मामले पिछले वर्ष की तुलना में इस वर्ष बढ़े है।

इस वर्ष सबसे ज्यादा महिला के अपहरण एवं पति द्वारा क्रूरता का मामला दर्ज हुआ है। पिछले वर्ष 2021 की बात करे 15 जुलाई तक पति द्वारा क्रूरता 2096 मामले में दर्ज हुई थी। जबकि इस वर्ष 15 जुलाई तक यह आंकड़ा बढ़कर 2704 हो गया है। इसी क्रम पिछले वर्ष 15 जुलाई तक

1880 मामले महिला के अपहरण के दर्ज हुए थे। जबकि इस वर्ष 15 जुलाई तक 2197 मामले दर्ज हो चुके है और अभी वर्ष खत्म होने में पांच माह बाकि है। रेप की घटनाओं की बात करे तो पिछले वर्ष की तुलना में इस वर्ष भी रेप के मामले में काफी वृद्धि हुई है। वर्ष 2021 में 15 जुलाई तक रेप के 1033 मामले दर्ज हुए थे, जबकि इस वर्ष 15 जुनाई तक 1100 मामले दर्ज हो चुके है। उक्त मामले में ऐसे कई महिला एवं युवती भी शामिल है जो, लोकलाज के कारण मामला दर्ज नहीं करवाती है।

दिल्ली पुलिस द्वारा जारी आंकड़े: 15 जुलाई तक

घटना वर्ष 2021 वर्ष 2022

रेप 1033 1100

छेड़छाड़ 1244 1480

महिला का अपहरण 1880 2197

पति द्वारा क्रूरता 2096 2704

दहेज हत्या (डोरी डेथ) 72 69