Wed. Sep 28th, 2022

दामाद ने अपने रिश्तेदार के साथ मिलकर उतारा था जाहर को मौत के घाट


अंधे कत्ल के खुलासे पर पुलिस कप्तान ने थपथपाई टीम की पीठ

झांसी,09 सितम्बर(हि. स.)। तीन दिन पूर्व रक्सा थाना क्षेत्र के डीपीएस स्कूल के पास जंगलों में मिले सड़े गले शव की कड़ी मश्कत के बाद शिनाख्त होने पर पुलिस ने हत्या कांड का पर्दाफाश करते हुए मृतक के दामाद को गिरफ्तार कर लिया। शराब के क्वाटर और राखी व मृतक के जूतों से शिनाख्त होने के बाद पुलिस को हत्या का खुलासा करने में सफलता हासिल हुई ।

शुक्रवार को पुलिस लाइन में आयोजित पत्रकार वार्ता के दौरान एसएसपी शिवहरि मीना ने जानकारी देते हुए बताया कि तीन सितंबर को एक शव रक्सा के डीपीएस स्कूल के पास जंगल में मिला था। उसकी शिनाख्त मध्य प्रदेश के जिला शिवपुरी पिछोर निवासी जाहर सिंह के रूप के हुई । घटना स्थल का निरीक्षण करने के बाद घटना हत्या की ओर इशारा कर रही थी । एसएसपी ने रक्सा थाना प्रभारी जितेंद्र सिंह को हत्या का अभियोग पंजीकृत कर घटना का खुलासा करने के निर्देश दिए गए थे । एसएसपी के निर्देशन के बाद थाना प्रभारी और उनकी टीम ने जांच पड़ताल के दौरान शक के आधार पर मृतक के दामाद मध्य प्रदेश जिला निवाड़ी महाराजपुरा निवासी विजय हिंद उर्फ विजय लोधी को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो आरोपी ने अपना जुर्म स्वीकार करते हुए बताया कि जाहर सिंह उसका ससुर था और वह लगातार उसकी पत्नी को फोन पर भड़का कर विवाद कराता था । रोज-रोज के विवाद के चलते विजय ने अपने ससुर को रास्ते से हटाने की योजना अपने साथी रिश्तेदार अंशुल राजपूत निवासी ग्राम नया कुआं के साथ मिलकर योजना के तहत जाहर सिंह को जमीन में गड़ा धन निकालने का लालच देकर झांसी रक्सा बुलाया । जंगल में जाकर सभी ने शराब पी और बाद में नीम की लकड़ी से सिर पर कई बार हमला कर हत्या कर दी । बाद में उसका मोबाइल फोन तोड़कर नदी में फेंक दिया और उसके कपड़े जंगल में फेंक दिए ।

एसएसपी ने बताया कि इस अंधे कत्ल का राजफाश करने वाली रक्सा पुलिस टीम को पच्चीस हजार का नकद इनाम दिया जाएगा । शराब के क्वाटर और राखी व मृतक के जूतों से शिनाख्त होने के बाद पुलिस को सफलता हासिल हुई ।