Wed. Feb 21st, 2024

डोंगरगढ़ : यूक्रेन में फंसी मेडिकल छात्रा को वापस लाने पिता ने किया आग्रह


डोंगरगढ़, 26 फ़रवरी (हि.स.)। यूक्रेन और रूस के बीच चल रहे युद्ध में भारतीय छात्र जो मेडिकल की पढ़ाई करने गए हुए है, उनमें से बहुत से छात्र छात्राएं वहां फंसे हुए हैं।.भारत सरकार के द्वारा लगातार इन छात्र छात्राओं को सुरक्षित क्षेत्र में ले जाकर रखने की कोशिश लगातार की जा रही है, जहां से उन्हें भारत वापस लाया जा सके। राजनांदगांव जिले के डोंगरगढ़ राधिका नगर की रहने वाली एक मेडिकल छात्रा युविका मलागर के पिता ने केंद्र व राज्य सरकार से बच्ची को सुरक्षित भारत लाने का आग्रह किया है।

युविका मलागर वहां पर एमबीबीएस फर्स्ट ईयर की छात्रा है और इस समय यूक्रेन के कीव में पढ़ाई करने गई हुई है, जो वहां पर फसी हुई है। युविका के पिता गिरीश साहू ने मीडिया से बात करते हुए बताया कि हमने बच्ची को एमबीबीएस पढ़ाई के लिए भेजा है और हम वहां की स्थिति को देखते हुए उसे वापस बुलाने का प्रयास कर रहे हैं। वहां की स्थिति अनुकूल नहीं होने के कारण भारत सरकार और छत्तीसगढ़ सरकार से बच्ची को सुरक्षित वापस लाने के लिए आग्रह किया है।