Fri. May 27th, 2022

डीसीडब्ल्यू ने नगर निगम के आयुक्त को समन और पुलिस को जारी किया नोटिस


नई दिल्ली, 04 मई (हि.स.)। दिल्ली महिला आयोग (डीसीडब्ल्यू) की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने बुधवार को पूर्वी दिल्ली नगर निगम द्वारा संचालित एक स्कूल में दो 8 साल की बच्चियों के यौन उत्पीडन के मामले में पूर्वी दिल्ली नगर निगम के आयुक्त को समन और दिल्ली पुलिस को नोटिस जारी किया है।

डीसीडब्ल्यू को सूचना मिली की ये शर्मनाक घटना दिल्ली के भजनपुरा इलाके में स्थित एक पूर्वी दिल्ली नगर निगम के स्कूल में 30.4.22 को घटित हुई जब सब छात्राएं स्कूल की सभा के बाद कक्षा के अंदर अपने शिक्षक का इंतजार कर रही थीं। तभी एक अज्ञात व्यक्ति कक्षा में आया और फिर उसने एक लड़की के कपड़े उतारे और उसके साथ अश्लील बातें करने लगा।

इसके बाद वह आरोपित दूसरी लड़की के पास गया और उसके कपड़े भी उतार दिए और फिर अपने कपड़े उतार कर आरोपित सब बच्चों के बीच कक्षा में ही पेशाब करने लगा। यही नही बल्कि इस दुर्भाग्य पूर्ण घटना के बाद जब बच्चियों ने घटना के बारे में कक्षा शिक्षक और प्रिंसिपल को सूचित किया, तो उन्होंने बच्चियों को चुप रहने तथा इसके बारे में भूल जाने के लिए कहा।

डीसीडब्ल्यू ने मामले को गंभीरता से लेते हुए तुरंत ही दिल्ली पुलिस को नोटिस जारी कर मामले में आरोपित की तत्काल गिरफ्तारी की मांग की और पूर्वी दिल्ली नगर निगम के आयुक्त को भी तलब किया है।

डीसीडब्ल्यू ने नगर निगम से मामले की विस्तृत रिपोर्ट मांगते हुए डीसीडब्ल्यू के सामने पेश होने के लिए 48 घंटे का समय दिया। डीसीडब्ल्यू ने एमसीडी से स्कूल सुरक्षा में हुई इस भारी चूक के कारणों को बताने तथा इसके लिए जिम्मेदार लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की भी मांग की।

डीसीडब्ल्यू ने दिल्ली पुलिस एवं एमसीडी से अपराध को पुलिस को नहीं बताने तथा उसे छिपाने का प्रयास करने के लिए पोस्को अधिनियम के तहत स्कूल के प्रिंसिपल और कक्षा शिक्षक के खिलाफ की गई कार्रवाई का विवरण भी मांगा है ।

इसके साथ ही डीसीडब्ल्यू ने नगर निगम से स्कूल के सीसीटीवी फुटेज के साथ-साथ स्कूल में आगंतुकों पर नजर रखने के लिए किए गए प्रावधानों का ब्यौरा देने को भी कहा और साथ ही अगर स्कूल में सीसीटीवी कैमरे न होने की सूरत में निगम आयुक्त को इसका कारण बताने के लिए भी कहा। इसके अलावा डीसीडब्ल्यू ने निगम से स्कूल द्वारा सीसीटीवी कैमरे लगाने हेतु पूर्वी निगम को भेजे गए लंबित प्रस्तावों की भी विस्तृत रिपोर्ट देने को कहा।

डीसीडब्ल्यू की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने मामले पर अपनी पीड़ा व्यक्त करते हुए कहा, “मैं इस बात से बेहद दुखी हूं कि स्कूल परिसर के अंदर, जो कि बच्चों के लिए बहुत सुरक्षित जगह मानी जाती है वहां छोटे बच्चों के साथ यौन उत्पीड़न की ऐसी गंभीर और चौंकाने वाली घटना हुई है।

यह पूरी तरह से अस्वीकार्य है कि इस तरह का घोर अपराध पूर्वी निगम के स्कूल में दिन दिहाड़े हुआ और इसकी सूचना देने के बजाय, स्कूल के प्रधानाचार्य और शिक्षकों ने मामले को दबाने की कोशिश की।”