Sun. May 22nd, 2022

झीलों के शहर में पेयजल संकट, टैंकरों से पानी की आपूर्ति


नैनीताल, 23 अप्रैल (हि.स.)। झीलों के शहर नैनीताल के कई क्षेत्रों में यूं तो वर्ष भर पेयजल की समस्या रहती है लेकिन गर्मियों का मौसम आने पर यह समस्या और बढ़ गई है। पूर्व में नगर में भरपूर व 24 घंटे पेयजल आपूर्ति होने की वजह से नगर में अनेक लोगों के घरों पेयजल के टैंक या भंडारण की व्यवस्था नहीं है, ऐसे लोगों के लिए गर्मियों में पानी का प्रबंध करना मुश्किल हो गया है। ऐसे में जल संस्थान के द्वारा नगर में टैंकरों के जरिए पेयजल की आपूर्ति शुरू कर दी गई है।

नगर के अयारपाटा क्षेत्र में शनिवार को टैंकर से पेयजल की आपूर्ति की गई। इस पर स्थानीय सभासद मनोज साह जगाती ने तंज कसते हुए कहा कि भाजपा के सांसद व विधायक तथा केंद्र व राज्य में भाजपा की सरकार होते हुए भी लोग टेंकरों से पानी भरने को मजबूर व परेशान हैं। इसे सरकार या प्रशासन किसकी नाकामी माना जाए। साथ ही उन्होंने सवाल उठाया कि जब क्षेत्र के लोगों के लिए पानी पूरा नहीं पड़ रहा है तो बड़े होटलों व स्कूल कॉलेजों में पानी कैसे पूरा पड़ रहा है।

इस प्रश्न पर जल संस्थान के सहायक अभियंता डीएस बिष्ट ने बताया कि अयारपाटा क्षेत्र में अधिकांश होटलों व स्कूलों में शेरवुड के टैंक और कुमाऊं विश्वविद्यालय के आवास व आबादी क्षेत्रों में टिफिन टॉप के टैंक से आपूर्ति होती है। लाइनें पुरानी हैं। आज यहां कुछ मरम्मत के कारणों से टैंकर से पेयजल पहुंचाया गया। अब लाइन से आपूर्ति शुरू कर दी गई हैं।

इसके अलावा उन्होंने बताया कि नगर में सुबह-शाम ढाई से तीन घंटे दो समय यानी दिन में 5 से 6 घंटे सप्ताहांत पर 9 एमएलडी व अन्य दिनों में 8 एमएलडी पेयजल की आपूर्ति की जा रही है। दावा किया कि केवल टेल यानी लाइन के अंतिम सिरों में ही दिक्कत हो रही है। साथ ही बताया कि जनपद के बेतालघाट व धारी के कुछ क्षेत्रों में समस्या आने पर टैंकरों से पेयजल की आपूर्ति की जा रही है।