Wed. Feb 21st, 2024

झारखंड में केंद्रीय टीम ने ग्रामीण विकास विभाग के कार्यों की समीक्षा की


रांची 23 फरवरी। झारखंड में ग्रामीण विकास की योजनाओं को देखने ग्रामीण विकास मंत्रालय,भारत सरकार की उच्च स्तरीय CRM टीम रांची पहुंची थी।सीआरएम टीम ने 19 फरवरी से 22 फरवरी तक राज्य के विभिन्न जिलों का दौरा किया । खूंटी,गुमला, रामगढ़, हजारीबाग, बोकारो सहित सात जिलों के भ्रमण के दौरान मनरेगा व समेकित आजीविका क्लस्टर की संचालित योजनाओं का अवलोकन किया गया।

क्षेत्र भ्रमण के दौरान ग्रामीण विकास विभाग से संबद्ध विभिन्न योजनाएं यथा मनरेगा, प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण), एन0आर0एल0एम0, रूर्बन आदि योजनाओं का निरीक्षण किया गया । निरीक्षण के बाद केंद्रीय टीम में तमिलनाडु के पूर्व मुख्य सचिव डॉ राजीव रंजन द्वारा न्यू प्रोजेक्ट बिल्डिंग भवन स्थित प्रथम तल सभागार में ग्रामीण विकास विभाग से संबंधित सभी कार्यक्रमों की समीक्षा हेतु बैठक आहूत की गई । बैठक में ग्रामीण विकास सचिव मनीष रंजन, मनरेगा आयुक्त राजेश्वरी बी, सीईओ जलछाजन विनय कान्त मिश्रा, अपर सचिव ग्रामीण विकास विभाग राम कुमार सिन्हा और अन्य पदाधिकारी उपस्थित थे।
CRM टीम के द्वारा क्षेत्र भ्रमण के दौरान विभिन्न योजनाओं में पाये जाने वाले निष्कर्ष के बारे में चर्चा की गयी तथा विभिन्न योजनाओं में और बेहतर करने के लिए आवश्यक दिशा-निर्देश दिये गए । बैठक में मनरेगा आयुक्त ने पूर्व मुख्य सचिव तमिलनाडु को मनरेगा मोमेंटम भेंट किया।
टीम में नाबार्ड के पूर्व जीएम धरनीधर मिश्रा, रिटायर प्रोफेसर सेंटर फॉर रूरल इंफ्रास्ट्रक्चर एनआईआरडी एंड पीआर हैदराबाद पोलंकी शिवाराम व एसोसिएट प्रोफेसर हेमंता कुमार उन्मति शामिल थे।

सीमा सिन्हा ब्यूरो प्रमुख।