Fri. May 27th, 2022

ज्ञानवापी परिसर का पचास फीसद सर्वे का कार्य पूरा


वाराणसी,14 मई (हि.स.)। ज्ञानवापी श्रृंगार गौरी मामले में न्यायालय के सख्त निर्देश पर शनिवार को पहले दिन कमीशन (सर्वे) का कार्यवाही सुरक्षा के अभेद किलेबंदी में पूरी की गई। सुबह आठ बजे से दोपहर 12 बजे तक लगभग चार घंटे चली कार्यवाही में वादी और प्रतिवादी पक्ष के 52 लोगों की टीम ने कोर्ट कमिश्नर की मौजूदगी में ज्ञानवापी मस्जिद परिसर में गहन निरीक्षण के साथ दीवारों,खंभों की वीडियोग्राफी कराई।

तहखानों की भी वीडियोग्राफी विशेष कैमरा और लाइट की व्यवस्था के बीच की गई। पहले दिन के सर्वे को लेकर टीम ने न्यायालय के निर्देश पर पूरी गोपनीयता बरती। सर्वे से संबंधित कोई भी जानकारी मीडिया के सामने देने से सर्वे टीम ने मना कर दिया।

कड़ी सुरक्षा के बीच टीम को पुलिस फोर्स ने अपने घेरे में लेकर रवाना कर दिया। पुलिस कमिश्नर ने बताया कि न्यायालय के निर्देश पर रविवार को भी सर्वे कार्य होगा। पुलिस कमिश्नर ने बताया कि न्यायलय के आदेशानुसार कमीशन की कार्यवाही प्रारंभ हुई । इस दौरान सुरक्षा की सुदृढ़ व्यवस्था की गई थी । कमीशन की कार्यवाही शांतिपूर्वक माहौल में सुचारू रूप से चली । शहर की शांति व्यवस्था अक्षुण रही । सीपी ने काशी के नागरिकों के सहयोग के प्रति आभार भी जताया।

जिलाधिकारी कौशलराज शर्मा के अनुसार अदालत के आदेश पर शनिवार सुबह आठ बजे से 12 बजे तक ज्ञानवापी मस्जिद परिसर और उसके आसपास कमीशन की कार्यवाही हुई। इस दौरान वादी-प्रतिवादी पक्ष, उनके अधिवक्ता और मंदिर एवं जिला प्रशासन के अधिकारी मौजूद थे।

जिलाधिकारी ने बताया कि सर्वे के दौरान सभी पक्षों ने अदालत के आदेश का पालन किया। शांतिपूर्वक तरीके से सर्वे का कार्य पूरा हुआ। सभी पक्षकार संतुष्ट हैं। लगातार चार घंटे सर्वे के उपरांत लगभग 50 फीसदी से अधिक सर्वेक्षण का कार्य हो चुका है। पूरी कार्यवाही कोर्ट की निगरानी में हो रही है इसलिए इसकी जानकारी नही दी जा सकती । खास बात ये रही कि ज्ञानवापी परिसर का सर्वे प्रदेश के डीजीपी और मुख्य सचिव के निगरानी में हुआ।

वाराणसी कमिश्नरेट ने अलर्ट जारी कर सुरक्षा की अभेद किलेबंदी की थी। सुरक्षा कारणों से मंदिर के आसपास की सभी दुकानें बंद रहीं। मैदागिन और गोदौलिया की ओर से ज्ञानवापी जाने वाले रास्ते को आम लोगों के लिए बंद कर दिया गया था। श्री काशी विश्वनाथ दरबार में श्रद्धालुओं को गेट नम्बर चार की बजाय गेट नंबर एक से प्रवेश दिया गया। मंदिर के आसपास के घरों की छतों पर पुलिस जवान तैनात किए गए। लगभग एक किलोमीटर तक की सड़कों पर पुलिस फोर्स का पहरा रहा। खुद जिलाधिकारी कौशलराज शर्मा और पुलिस कमिश्नर ए. सतीश गणेश पूरे सर्वे के दौरान मौके पर मौजूद रहे।

पुलिस कमिश्नर ने खुद परिसर के बाहर सुरक्षा की कमान थाम फोर्स के साथ पैदल मार्च किया। मीडिया को भी ज्ञानवापी परिसर से काफी दूर रखा गया। कमीशन की कार्यवाही को लेकर जिलाधिकारी कौशलराज शर्मा ने बीते शुक्रवार को हिंदू और मुस्लिम, दोनों पक्षों के साथ लम्बी बैठक की थी। उन्होंने सर्वे के दौरान दोनों पक्षों से शांति व्यवस्था बनाए रखने की अपील की है। मुस्लिम पक्ष अंजुमन-ए-इंतजामिया मसाजिद कमेटी ने कहा है कि जब तक सुप्रीम कोर्ट से कोई फैसला नहीं आ जाता है, वह सर्वे में पूरा सहयोग करेंगे।