Sun. May 22nd, 2022

जो बाइडेन का दावा, क्वाड की बढ़ती ताकत से घबरा गए थे शी जिनपिंग


वाशिंगटन, 23 अप्रैल (हि.स.)। क्वाड्रीलेटरल सिक्योरिटी डायलॉग यानी क्वाड में भारत की सक्रियता से सिर्फ पाकिस्तान ही परेशान नहीं है, चीन भी इसे लेकर असहज महसूस करता है। अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन ने दावा किया है कि ऑस्ट्रेलिया, भारत, जापान और अमेरिका के संयुक्त संगठन क्वाड की बढ़ती ताकत से चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग भी घबरा गए थे और उन्होंने इसे चीन के खिलाफ बताते हुए आपत्ति भी जताई थी।

हिंद प्रशांत क्षेत्र में सक्रिय देशों अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया, जापान व भारत ने मिलकर क्वाड्रीलेटरल सिक्योरिटी डायलॉग यानी क्वाड का गठन किया है। इसे लेकर पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान तो कहते ही रहे हैं कि क्वाड में भारत की सक्रियता इस देश की स्वतंत्र विदेश नीति की परिचायक है।

अब अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने क्वाड को लेकर चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग की चिंताओं का रहस्योद्घाटन किया है। बाइडेन ने कहा कि क्वाड की सक्रियता और बढ़ती ताकत को देखकर जिनपिंग घबरा गए थे। उन्होंने एक बार बाइडेन से यहां तक कह दिया था कि वे चीन के खिलाफ क्वाड को मजबूत करने की रणनीति पर काम कर रहे हैं।

दरअसल बाइडेन द्वारा क्वाड के मंच से अमेरिका के साथ ऑस्ट्रेलिया, भारत व जापान को लामबंद करने के प्रयासों की बात कहे जाने पर जिनपिंग ने कहा था कि ऐसा सिर्फ चीन को प्रभावित करने के लिए किया जा रहा है। इस पर बाइडेन ने जवाब दिया था कि ऐसा हिंद प्रशांत क्षेत्र में काम कर देशों को एक साथ रखने के लिए किया जा रहा है।