Thu. Feb 22nd, 2024

जिला पुलिस ने मनाया पुलिस उपस्थिति दिवस, चौक-चौराहों व सार्वजनिक स्थानों पर तैनात रहीं पुलिस की टीमें


जनता में पुलिस के प्रति विश्वास जगाना है पुलिस उपस्थिति दिवस मनाने का उद्देश्य : एसपी सुरेन्द्र सिंह भोरिया
फतेहाबाद, 16 फरवरी (हि.स.)। अपराधों को रोकने, जनता में पुलिस के प्रति विश्वास जगाने के उद्देश्य और शरारती तत्वों के मन में भय बनाने को लेकर जिला पुलिस द्वारा पुलिस अधीक्षक सुरेन्द्र सिंह भोरिया के दिशा-निर्देशानुसार बुधवार को जिलेभर में पुलिस उपस्थिति दिवस मनाया गया।
इस अभियान में पुलिस अधिकारियों और कर्मचारियों ने भाग लिया और जिले के सभी चौक-चौराहों, सार्वजनिक स्थानों पर पुलिस टीम मुस्तैद नजर आई। एसपी ने पुलिस कर्मचारियों को प्रोत्साहित करते हुए कहा कि पुलिस का काम केवल अपराधों पर रोक लगाना नहीं बल्कि जनता के साथ मधुर सम्बंध रखते हुए उन्हें नशे जैसी सामाजिक बुराइयों के खिलाफ जागरूक करना भी है। लोगों में पुलिस के प्रति विश्वास बढ़े और वह खुद को सुरक्षित समझे, इसको लेकर सभी पुलिस कर्मचारी ईमानदारी से अपनी ड्यूटी का निर्वाह करें। लोगों को महिला सुरक्षा, डायल 112 बारे, साइबर अपराधों से बचाव के तरीकों बारे जानकारी दें और नशे के खिलाफ जिला पुलिस द्वारा शुरू की गई मुहिम से जुड़ने का भी आह्वान करें।
पुलिस अधीक्षक भोरिया ने बताया कि पुलिस महानिदेशक के निर्देशानुसार लोगों में पुलिस के प्रति विश्वास जगाने के उद्देश्य से जिले में समय-समय पर पुलिस उपस्थिति दिवस मनाया जाता है। इसके तहत सम्बंधित थाना क्षेत्र व चौकियों में पुलिस की अलग-अलग टीमें लगातार गश्त पर रहीं। संदिग्ध लोगों की पहचान कर उनके खिलाफ कार्यवाही अमल में लाई गई। अपराधों को रोकने के लिए जनता से भी सहयोग की अपील की गई, क्योंकि जन सहयोग के बिना पुलिस अकेले अपराधों पर नकेल नहीं कस सकती। उन्होंने कहा कि जिला पुलिस का प्रयास है कि लोग भयमुक्त व अपराधमुक्त समाज में बेहतर जीवन यापन कर पाएं, इसको लेकर फतेहाबाद पुलिस हर समय जनता की सेवा को तत्पर है।
उन्होंने बताया कि पुलिस उपस्थिति दिवस के दौरान फतेहाबाद, रतिया, टोहाना, भूना, जाखल, भट्टू क्षेत्र में दर्जनों पेट्रोलिंग पार्टियां लगाई गई थी। इसमें करीब 600 से अधिक पुलिस कर्मचारी व अधिकारी शामिल किए गए थे। इन टीमों ने अपने-अपने क्षेत्र में लगातार गश्त की, जिससे जनता में पुलिस के प्रति विश्वास बढ़े और उन्हें लगे कि पुलिस पूरी तरह से उनकी सुरक्षा के लिए हर समय तैनात है और उनके साथ है।