Thu. Feb 22nd, 2024

जितेंद्र नारायण सिंह त्यागी के सम्मान के लिये सन्ताें का कारवां राजघाट की ओर रवाना


हरिद्वार, 27 फरवरी (हि.स.)। सर्वानन्द घाट पर आज प्रातः शिया वक्फ बोर्ड के पूर्व चेयरमैन जितेंद्र नारायण सिंह त्यागी की रिहाई के लिये मां बगलामुखी का यज्ञ करके सन्तों का छोटा कारवां दिल्ली की ओर चल दिया है। दिल्ली पहुंचकर ये सभी संत जितेंद्र नारायण सिंह त्यागी की रिहाई के तक गांधी की समाधि पर आमरण अनशन करेंगे।
हिमाचल प्रदेश के आये दिव्यांग योगी ज्ञाननाथ व प्रज्ञाचक्षु स्वामी कृष्णानंद के नेतृत्व में महामंडलेश्वर यति नरसिंहानंद गिरी, महामंडलेश्वर साध्वी अन्नपूर्णा भारती,स्वामी अमृतानंद, सत्यदेवानंद, स्वामी श्याम चैतन्य गिरी व स्वामी संतराम आदि संत पदयात्रा के रूप में आज से आठवें दिन दिल्ली पहुंच जाएंगे और हिन्दुओं की दुर्दशा के जिम्मेदार गांधी की प्रतिमा पर आमरण अनशन करेंगे।
पदयात्रा आरम्भ करते हुए महामंडलेश्वर यति नरसिंहानंद गिरी महाराज ने कहा कि वर्तमान समय में जितेंद्र नारायण सिंह त्यागी सत्य और न्याय का नव प्रतीक बन चुके हैं। उन्होंने वो सत्य पूरी दुनिया के सामने रखा है जो पिछले चौदह सौ सालों से इस देश में किसी ने नहीं कहा। उन्हें केवल अपनी सत्यनिष्ठा और न्यायप्रियता के कारण आज ये दुर्दशा देखनी पड़ रही है। हम उनके सम्मान के लिये अंतिम सांस तक लड़ेंगे। हम जानते हैं कि वो वोट बैंक की घटिया राजनीति के शिकार हो चुके हैं। हमारी शक्ति उन्हें बचाने की नहीं है, लेकिन हम उनके सम्मान की रक्षा के लिए अहिंसक तरीके से लड़ते हुए अपनी जान तो दे ही सकते हैं।