Tue. Jun 28th, 2022

चिकित्सकों-बुद्धिजीवी वर्ग ने अवैध नर्सिंगहोम के खिलाफ खोला मोर्चा


किशनगंज,23 मई (हि.स.)। जिले के नर्सिंग होम में कथित रूप से चल रहे अवैध गतिविधियों पर कार्रवाई की मांग को लेकर अब चिकित्सकों एव बुद्धिजीवी वर्ग ने भी मोर्चा खोल दिया है। उसी क्रम में किशनगंज आईएमए के पूर्व अध्यक्ष सह बीपीएल पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष डॉ विजय ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर जिले के चिकित्सकों से इस संदर्भ में खुल कर सामने आने की अपील की है।

डॉ विजय ने कहा की विगत कई दिनों से चल रहे सोशल मीडिया और मीडिया के माध्यम से अवैध नर्सिंग होम और जांच घर के प्रति जो सामाजिक चेतना का भाव जगा है इसका समर्थन करता हूं। उन्होंने कहा की जिले में चल रहे नर्सिंग होम को मापदंडों पर खरा उतरना चाहिए एवं जिम्मेवार व्यक्ति की जवाबदेही सुनिश्चित होनी चाहिए साथ ही कहा की अगर किसी की कार्यशैली पर सवाल खड़ा होता है तो हम चिकित्सकों का यह जवाबदेही बनता है कि अपने प्रोफेशन के ऊपर लगाए गए आरोपों की जांच अपने स्तर पर करें।

डॉ विजय ने कहा कि हम चिकित्सक अपना पूरा समय लोगों की सेवा और स्वास्थ्य के प्रति सजगता के लिए 24 घंटे खड़े रहते हैं ऐसे में अगर चिकित्सकों के ऊपर आरोप लगता है तो कहीं ना कहीं यह चिंता का विषय है। उन्होंने कहा वास्तव में कई वर्षों से किशनगंज जिले में ऐसे कई जगह नर्सिंग होम के नाम पर दुकानदारी चल रही है जो किसी भी तरह से स्वास्थ्य सुरक्षा के लिए उचित नहीं है। चिकित्सक अपने निजी आवास या प्रतिष्ठानों में निजी प्रैक्टिस कर सकते हैं लेकिन यदि उनके नाम का बोर्ड लगा कर कोई दलाली या दुकानदारी करता है तो इसे रोकने की जवाबदेही हम चिकित्सकों की भी होनी चाहिए। वही उन्होंने कहा की जिले में सिर्फ 17 ही नर्सिंग होम निबंधित है जबकि कई बड़े नर्सिंग होम निबंधित नहीं है इसके पीछे क्या वजह है और नर्सिंग होम निबंधन की क्या प्रक्रिया है उसकी भी सिविल सर्जन को जानकारी साझा करनी चाहिए। उन्होंने कहा की आईएमए के पूर्व अध्यक्ष होने के नाते हम सभी चिकित्सकों से आग्रह करेंगे आपके नाम का अगर कहीं कोई बोर्ड लगा कर गलत उपयोग कर रहा है तो उसे अविलंब सुधारने की या कार्यवाही करने की दिशा में उपयुक्त कदम उठाएं।