Tue. Sep 27th, 2022

चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी से हॉस्टल छोड़ घरों को गई छात्राएं


– प्रबंधन ने 24 सितंबर तक नॉन टीचिंग डे घोषित किया

चंडीगढ़, 19 सितंबर (हि.स.)। पंजाब के मोहाली स्थित चंडीगढ़ विश्वविद्यालय में हुए घटनाक्रम की जांच एसआईटी करेगी। छात्राओं द्वारा रविवार रात यहां फिर से प्रदर्शन किया गया। एडीजीपी गुरप्रीत कौर दयो तथा डीआईजी गुरप्रीत सिंह भुल्लर रातभर विवि कैंपस में मौजूद रहे। गुरप्रीत कौर दयो ने कथित तौर पर पीड़ित एक-एक लड़की के साथ बातचीत की। एडीजीपी ने स्वीकार किया कि प्रारंभिक जांच में 20 लड़कियों के एमएमएस बनाए जाने के संकेत मिले हैं।

रविवार दिनभर विवि परिसर में हंगामे के बाद देर रात छात्राएं फिर से हॉस्टल के बाहर आ गई और प्रदर्शन शुरू कर दिया। यह प्रदर्शन रात करीब डेढ़ बजे तक जारी रहा। यूनिवर्सिटी में अब 24 सितंबर तक नॉन टीचिंग डे घोषित कर दिया गया है। इस घटनाक्रम के बाद सोमवार सुबह यहां की छात्राएं अपने घरों को जाना शुरू हो गई हैं। भारी संख्या में विद्यार्थी यहां से घरों को जा चुके हैं।

एडीजीपी गुरप्रीत कौर दयो के अनुसार पंजाब पुलिस ने हिमाचल प्रदेश से दो युवकों को हिरासत में ले लिया है। इनमें लड़की ने जिस युवक की तस्वीर दिखाई थी, उसे शिमला के ढली से पकड़ा गया। उसका नाम रंकज वर्मा है। वहीं, दूसरे आरोपित सन्नी मेहता को रोहड़ू से पकड़ा गया है। पुलिस वीडियो बनाने वाली लड़की को पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है। लड़की भी शिमला के रोहड़ू की रहने वाली है। वो आरोपित लड़कों को बहुत पहले से जानती है।