Thu. Feb 22nd, 2024

कोचिंग सेंटर के नाम पर राजस्थान में बने माफिया गिरोह : उपनेता प्रतिपक्ष


बीकानेर, 17 फरवरी (हि.स.)। राजस्थान विधानसभा में उपनेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र राठौड़ ने कहा कि राज्य में कोचिंग सेंटर के नाम पर माफिया गिरोह बन गये हैं। रीट पेपर लीक मामले में चौतरफा घिरने के बाद मुख्यमंत्री गहलोत बजट सत्र में नकल व पेपर लीक के संबंध में कठोर प्रावधान लाने की बात कह रहे हैं, लेकिल मुख्यमंत्री ने विगत वर्ष 17 अक्टूबर 2021 को नया नकल अध्यादेश लाने घोषणा को अमलीजामा पहनाया होता तो आज पेपर माफियाओं में भी खौफ रहता और भर्ती प्रक्रियाओं में प्रश्नचिन्ह नहीं लगता। जो युवाओं को ठग कर उनकी भावनाओं से खेल रहे है।

गुरुवार को पत्रकारों से चर्चा करते हुए राठौड़ ने निष्पक्ष रुप से सीबीआई से जांच कराने की मांग की है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री रीट पेपर लीक प्रकरण में विपक्ष पर राजनीतिक रोटियां सेंकने का आरोप लगा रहे हैं, लेकिन वे स्वयं युवाओं के भविष्य के प्रति जरा भी सजग व गंभीर होते तो उनके शासन में रीट के अलावा लाइब्रेरियन, एसआई व जेईएन भर्ती परीक्षाओं के पेपर लीक नहीं हुए होते। राठौड ने सड़क से सदन तक रीट प्रकरण की आवाज उठाने की बात कही। राठौड़ ने राजनीतिक नियुक्तियों पर वार करते हुए कहा कि ये संविधान के विरूद्व है। जिन संस्थाओं को भाजपा राज में बंद कर दिया गया। उनको फिर से शुरू कर गहलोत ने नेताओं को खुश करने का काम किया है। वे जनता की गाढ़ी कमाई को बर्बाद कर रहे है। उन्होंने कहा कि बजट पेश होने के बाद भाजपा इसको लेकर रणनीति बनाएगी।