Mon. May 23rd, 2022

केंद्रीय मंत्री से भी अधिक पावरफुल है बुडको, बेगूसराय में घर से निकलना हुआ मुश्किल


बेगूसराय, 23 अप्रैल (हि.स.)। केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह का संसदीय क्षेत्र और राष्ट्रवादी विचारक राज्यसभा सांसद प्रो. राकेश सिन्हा का गृह जिला बेगूसराय आधारभूत संरचना से लेकर औद्योगिक विकास एवं आत्मनिर्भरता में लगातार प्रगति करते हुए नई गाथा लिख रहा है लेकिन बिहार सरकार के बिहार शहरी आधारभूत संरचना विकास निगम (बुडको) ने जिला मुख्यालय के सड़क तथा स्वच्छता को पूरी तरह से तहस-नहस कर दिया है। पिछले ढ़ाई साल से बेगूसराय में सीवरेज को लेकर काम चल रहा है, लेकिन सीवरेज का काम कर रही कंस्ट्रक्शन कंपनी ने शहर की पूरी व्यवस्था ही तहस-नहस कर दी है। जिसके कारण एक ओर पूरा शहर और सभी गलियां जाम से अस्त-व्यस्त रहती हैं, वहीं दूसरी ओर अव्यवस्थित तरीके से की गई खुदाई के कारण रोज दर्जनों लोग गिरकर घायल होते हैं। कई मोहल्ला में तो लोगों का घर से निकलना तक मुश्किल हो गया है।

तीन दिन पहले विश्वनाथ नगर में एक युवक साइकिल सहित बुडको द्वारा खोदे गए करीब 20 फीट गहरी खाई में जा गिरा। नौ अप्रैल को समाहरणालय में आयोजित जिला विकास समन्वय एवं अनुश्रवण समिति (दिशा) की बैठक में स्थानीय सांसद-सह-दिशा के अध्यक्ष गिरिराज सिंह ने बुडको को सख्त चेतावनी दी, डीएम को भी कार्रवाई करने के लिए निर्देश दिया। लेकिन परिणाम सबके सामने है, बुडको सब पर भारी है, उसके कार्यशैली में कोई परिवर्तन होने वाला नहीं है। इससे पहले भी बुडको द्वारा शहर में किए जा रहे कार्यप्रणाली से नाराज गिरिराज सिंह ने कहा था कि यहां के हालत से बेहतर इस्तीफा दे देना है, ढ़ाई साल से शहर को अस्त-व्यस्त कर दिया गया है, रोज-रोज शिकायतें आ रही है। लेकिन गिरिराज सिंह के इस कड़े बयान के बाद भी बुडको के अधिकारियों एवं संवेदक पर कोई प्रभाव नहीं पड़ा। जिससे लग रहा है कि बुडको के अधिकारी और संवेदक केंद्र सरकार से भी अधिक पावरफुल है, लोगों को इससे काफी आक्रोश है। शहर का हाल यह है कि शहर की प्रमुख सड़कों पर लोग निकलने से परहेज करने लगे हैं।

इस कार्यप्रणाली के कारण व्यवसाय पर भी प्रहार हुआ है। जिसके मद्देनजर बेगूसराय चेंबर ऑफ कॉमर्स ने डीएम, नगर आयुक्त एवं उपमुख्यमंत्री को पत्र लिखकर त्राहिमाम संदेश भेजा है। पत्र में चेंबर ऑफ कॉमर्स के अध्यक्ष प्रकाश कुमार टिबड़ेवाल ने कहा है कि बुडको द्वारा सड़क की खुदाई के साथ ही नाला निर्माण तथा सड़क मरम्मत नहीं किए जाने से नगर की स्थिति नारकीय बन गई है। बुडको द्वारा कराए जा रहे नाला निर्माण के दौरान शहर की सड़कों को वैवाहिक लग्न के मांगलिक अवसर पर खोदकर छोड़ दिया गया है। जिससे आमजन, ग्राहकों एवं व्यवसायियों को आवागमन तथा व्यापार संचालन में घोर असुविधा का सामना करना पर रहा है, व्यापार चौपट हो रहा है। मारवाड़ी मोहल्ला स्थित रामदयाल मस्करा चौक से भामाशाह चौक तक की सड़क को तीन माह पूर्व से खोदकर छोड़ दिया गया है, जिसकी उड़ती धूल से आमजन, व्यवसायी तथा मोहल्लावासी त्रस्त होकर नारकीय जीवन जीने को विवश हैं। संबंधित कंपनी को आवश्यक सख्त आदेश देकर मनमानी पूर्वक खोदकर छोड़े गए सड़क की मरम्मत कराई जानी चाहिए, नहीं तो स्थिति और बद से बदतर होती चली जाएगी।