Wed. Sep 28th, 2022

कूनो राष्ट्रीय उद्यान में नहीं छोड़े गए राजस्थान के हिरण व चीतल, मुख्य वन संरक्षक ने जारी किया बयान


नई दिल्ली, 20 सितंबर (हि.स.)। मध्य प्रदेश के कूनो पार्क में नामीबिया से लाए गए 8 चीतों को भोजन के तौर पर करीब 200 चीतल को छोड़ने की खबरों का मध्य प्रदेश सरकार ने खंडन किया है।

मध्य प्रदेश के प्रधान मुख्य वन संरक्षक (वन्य प्राणी) जसबीर सिंह ने आधिकारिक बयान जारी करते हुए कहा कि कूनो राष्ट्रीय उद्यान में पहले से ही 20,000 से अधिक चीतल है, ऐसे में किसी भी हिरण और चीतल को राजस्थान से लाने की कोई आवश्यकता ही नहीं है। इस मामले में फैलाई जा रही खबरें झूठी हैं।

मंगलवार को जारी बयान में कहा गया है कि नामीबिया से लाए गए आठ चीतों के लिए कूनो राष्ट्रीय उद्यान में काफी संख्या में जीव-जंतु हैं। चीतल की संख्या 20,000 से अधिक है, ऐसे में हिरण और चीतल को किसी और राज्य से लाने की खबर निराधार है। मध्य प्रदेश वन विभाग द्वारा ऐसा कोई काम नहीं किया जाएगा जिससे बिश्नोई समाज, जो वन्यप्राणी संरक्षण में अपने योगदान के लिए विश्वविख्यात है, उनकी भावनाओं को ठेस पहुंचे।