Fri. May 27th, 2022

किन्नौर : निर्माणाधीन पावर प्रोजेक्ट में हादसा, दो मजदूरों की मौत, तीन घायल


रिकांगपिओ, 07 मई (हि. स.)। जिला किन्नौर की मूरंग तहसील के अंतर्गत टिडोंग में निर्माणाधीन 100 मेगावाट टिडोंग परियोजना में शनिवार को सुरंग निर्माण कार्य मे लगे पांच मजदूरों में से दो की मौत हो गई है जबकि तीन मजदूर घायल हो गए हैं।

मृतकों की पहचान चमन लाल पुत्र लेख राम गांव मुन्डखर तहसील भोरंज जिला हमीरपुर (हि प्र) व जेवियर सुरिन पुत्र क्रिस्ट नियार सुरिन निवासी गांव सिसकरी टोली, सेलेगुटु जिला गुमला झारखण्ड के रूप में हुई है । जबकि इस हादसे में पोलस गुडिया पुत्र किरन गुडिया निवासी गांव तुरपा जिला खुन्टीं झारखण्ड, विकास पुत्र राजेश पटेल निवासी नायक टोला डाकघर आधपुर तहसील मोतीहारी जिला मोतीहारी बिहार व विशाल कुमार पुत्र राम नारायण निवासी गांव गम्हरिया डाकघर रक्सोल तहसील रक्सोल जिला मोतीहारी बिहार घायल हुए हैं। घायलों को उपचार के लिए क्षेत्रीय चिकित्सालय रिकांगपिओ लाया गया परन्तु इनमें से दो मजदूरों को प्राथमिक उपचार देने के बाद रामपुर रैफर कर दिया है जबकि एक उपचार रिकांगपिओ चिकित्सालय में चला हुआ है ।

जानकारी के अनुसार शनिवार सुबह टिडोंग में निर्माणाधीन 100 मेगावाट टिडोंग परियोजना के पांच मजदूर टनल के अंदर जाने के लिए प्रयोग की जाने वाली ट्रॉली में जा रहे थे कि अचानक ट्रॉली की तार टूट गई जिससे पांचों मजदूर नीचे गिर गए तथा टनल के अंदर ही फंस गए। टनल के अंदर फंसे मजदूरों की सूचना मिलते ही उनको निकालने के लिए परियोजना प्रबंधन व अन्य मजदूर जुट गए।

हादसे की सूचना मिलते ही डी एस पी किन्नौर, आर्मी , होमगार्ड , पुलिस , डिजास्टर व पैरामेडिकल की टीम घटना स्थल पर पहुंची तथा टनल के अंदर फंसे मजदूरों को सुरक्षित निकालने के लिए रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू किया। कड़ी मशक्कत के बाद तीन मजदूरों को घायलावस्था में टनल से निकाला परन्तु दो मजदूरों की टनल के अंदर ही मौत हो चुकी थी ।

वहीं उपायुक्त किन्नौर आबिद हुसैन सादिक ने बताया कि शनिवार सुबह टिडोंग परियोजना में हुए हादसे में दो मजदूरों की मौत हो गई है जबकि तीन घायल हुए हैं । उन्होंने यह भी बताया कि प्रारंभिक जांच में यह पता चला है कि यह हादसा ट्रॉली की तार टूटने के कारण हुआ है जिस पर एडीएम पूह को हादसे की जांच के लिए मजिस्ट्रियल जांच करने व एक सप्ताह के भीतर जांच रिपोर्ट सौंपने के आदेश दे दिए गए हैं ।

उन्होंने बताया कि जांच के बाद जो भी इसमें जिम्मेवार होगा उसके खिलाफ कानूनी कार्यवाही अमल में लाई जाएगी तथा संबंधित प्रावधानों के तहत एफआईआर भी दर्ज की जाएगी।