Tue. Jun 28th, 2022

काबुल गुरुद्वारा आतंकी हमले पर संयुक्त राष्ट्र में फूटा भारत का गुस्सा, अमेरिका ने भी की निंदा


न्यू यॉर्क, 21 जून (हि.स.)। अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में गुरुद्वारे पर हुए आतंकी हमले को लेकर संयुक्त राष्ट्र में भारत ने आक्रोश जाहिर किया है। अमेरिका ने भी इस आतंकी हमले की निंदा की है।

अफगानिस्तान की राजधानी काबुल के कार्त-ए-परवान गुरुद्वारे में बीती 18 जून को आतंकवादियों ने हमला कर दिया था। इसमें दो लोगों की मृत्यु हो गयी थी और कई घायल हो गए थे। इस हमले की जिम्मेदारी इस्लामिक स्टेट ऑफ खोरासन ने ली थी। भारत ने इस हमले पर सख्त रुख अख्तियार किया है।

संयुक्त राष्ट्र महासभा में आयोजित उच्च स्तरीय बैठक में भारत के स्थायी प्रतिनिधि टीएस तिरुमूर्ति ने इस हमले पर कड़ी नाराजगी जाहिर की। हमले को कायरतापूर्ण और नृशंस करार देते हुए उन्होंने कहा कि संयुक्त राष्ट्र के सदस्यों को गैर-अब्राहम धर्मों के खिलाफ हो रही हिंसा की निंदा करनी चाहिए, जिसमें बौद्ध, हिंदू व सिख शामिल हैं। उन्होंने कड़े लहजे में कहा कि यदि आप वास्तव में नफरत का मुकाबला करना चाहते हैं तो धार्मिक भय पर दोहरे मानदंड नहीं हो सकते।

इस बीच अमेरिका ने भी काबुल में गुरुद्वारे पर हुए हमले की निंदा की है। अफगानिस्तान के लिए अमेरिका के विशेष प्रतिनिधि ने एक ट्वीट कर कहा है कि अमेरिका काबुल में अफगान सिख समुदाय के गुरुद्वारे पर कायरतापूर्ण हमले की निंदा करता है, जिसमें एक सिख उपासक सहित निर्दोष लोगों की जान चली गई थी। पीड़ितों के परिवारों के प्रति गहरी संवेदनाएं जताते हुए उन्होंने कहा कि कमजोर अल्पसंख्यकों की रक्षा की जानी चाहिए।