Wed. Sep 28th, 2022

एयर इंडिया के बाद उसकी दो सहायक कंपनियों को बेचने की प्रक्रिया शुरू


नई दिल्ली, 19 सितंबर (हि.स)। केंद्र सरकार ने एयर इंडिया के निजीकरण के बाद उसकी दो अन्य सहायक कंपनियों एआईएएसएल और एआईईएसएल के निजीकरण की प्रक्रिया की शुरुआत कर दी है।

आधिकारिक सूत्रों ने सोमवार को बताया कि निवेश और सार्वजनिक संपत्ति प्रबंधन विभाग (दीपम) ने एयर इंडिया एयरपोर्ट सर्विसेज लिमिटेड (एआईएएसएल), एयर इंडिया इंजीनियरिंग सर्विसेज लिमिटेड (एआईईएसएल) में निवेशकों की दिलचस्पी का पता लगाने के लिए बैठकें शुरू हो गई है। दीपम जल्द ही इच्छुक बोलीदाताओं से ईओआई आमंत्रित करेगा।

दरअसल, सरकार ने एयर इंडिया को बेचने के बाद कहा था कि इन सहायक कंपनियों और गैर-प्रमुख संपत्तियों को बाद में बेचा जाएगा। इसी क्रम में दीपम ने एआईएएसएल और एआईईएसएल के निजीकरण के लिए निवेशक बैठकों का आयोजन किया है।

सरकार ने कर्ज में डूबी एयर इंडिया को पिछले साल अक्टूबर में टाटा समूह को 18 हजार करोड़ रुपये में बेचा था। इसके बाद इस साल जनवरी में एयर इंडिया को टाटा समूह को सौंप दिया। एयर इंडिया की सहायक कंपनियों का मूल्य करीब 15 हजार करोड़ रुपये है, जिसमें ये दोनों कंपनियां भी शामिल हैं। फिलहाल इन सहायक कंपनियों और गैर-प्रमुख संपत्तियों को एक एसपीवी एयर इंडिया एसेट्स होल्डिंग लिमिटेड (एआईएएचएल) में स्थानांतरित किया गया है।