Sun. May 22nd, 2022

एक जाति का नाम आए तो निकल पड़ते हैं बुलडोजर : अखिलेश


– कहा, रक्षक ही भक्षक बन जाए तो सोचिए किस दिशा में जा रहा समाज

झांसी,05 मई (हि.स.)। रक्षा करने वाली पुलिस ही भक्षक बन जाए तो सोचिए कि हम किस दिशा में जा रहे हैं। ऐसे लोगों को सरकार कब टर्मिनेट करेगी। ललितपुर की थाने में घटी घटना शांत भी नहीं हुई और एक महिला के साथ दुर्व्यवहार का मामला सामने आ गया। अपराध के मामलों में सर्वाधिक नोटिस यूपी को मिल रहे हैं। वह तो दबाव बन गया समाजवादी निकल पड़े।

गोरखपुर में व्यापारी की मौत को ही देख लीजिए, चाहे दो बहनों को पीटने का मामला ले लीजिए। आखिर उप्र की पुलिस को अधिकार किसने दिए। चाहे जहां बुलडोजर चला देते हैं। बीजेपी के लोग कुछ भी करें तो कुछ नहीं। एक जाति का नाम आए तो बुलडोजर निकल पड़ते हैं। यह कहना है सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव का। वह बीती शाम ललितपुर में पीड़िता से मिलने के बाद झांसी में रात्रि विश्राम के बाद एक स्थानीय पत्रकारों से मुखातिब हो रहे थे। उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि आजकल चैनल मोदी के इशारे पर चल रहे हैं।

सपा सरकार में ही यूपी में बिजली कारखाने लगाए, उनको पूरा नहीं किया गया। झांसी में पैरामेडिकल बनाया, बजट के अभाव में खाली पड़ा है। बिजली मंहगी है, डीजल महंगा और बैंक लोन भी मंहगा है। अर्थ व्यवस्था चौपट, लाउड स्पीकर वाली बात इसलिए करते हैं क्योंकि इन्हें बेरजगारी और महंगाई का जवाब न देना पड़े। यदि विदेश से फाइटर आ जायेंगे तो बुंदेलखंड में जो फैक्ट्री लगाई है उससे कौन लेगा एयरक्राफ्ट।

उप्र पहला प्रदेश जहां अन्ना पशुओं से हो रही दुर्घटना

उन्होंने पूछा कि आज कितने लोगों को नौकरी मिली है। बिजली, सरिया, पानी, सीमेंट सब मंहगा हो गया है। अब तो रिज़र्व बैंक ने भी अजब फैसला ले लिया है। अब लाउडस्पीकर उतार रहे हैं। वोट तो मस्जिद से लाउडस्पीकर उतारने पर लिए थे। अब सेक्यूलर हो गए हैं। सपा ने राठ से पायलट प्रोजेक्ट शुरू किया था। उसे बंद कर दिया। महंगाई चरम पर है। आज भी समस्या गिनाते हैं। हमने तो समाधान के लिए भारी बहुमत से आपको चुना था। कल ललितपुर गया था सभी जगह अन्ना जानवर मिले। उप्र पहला प्रदेश जहां अन्ना जानवरों से दुर्घटना हो रहीं हैं।

मंत्रियों के कथन पर कसा तंज

भाजपा के एक मंत्री कहते हैं पूरा पैसा डकार जाते हो तो दूसरे अस्पतालों में जाकर कहते हैं मैं शर्मिंदा हूं। अरे भाई उन्हें मुख्यमंत्री के पास जाना चाहिए 5 कालीदास मार्ग और और उनसे कहना चाहिए कि मुझे आप पर शर्म आती है। चाचा व चचा के सवाल पर कहा कि समाजवादी पार्टी उनके साथ खड़ी है। उन्होंने एक सवाल के जवाब में कहा कि अन्ना पशुओं का समाधान उनको करना चाहिए। कैसी सरकार है न्यायालय के स्टे को भी नहीं मानते ये। थाने अराजकता व वसूली का केन्द्र बने हुए हैं।

कुछ लोगों को स्वभाव के अनुसार मिल जाते हैं मंत्रालय

मुख्यमंत्री जी अभी अपनी मां से मिलने गए थे। मैं उस पर कुछ नहीं कहूंगा। ये जरूर कहूंगा कि यहां वह आएं तो उस पीड़िता की मां से भी जरूर मिलें और उनका 50 लाख की धनराशि से सहयोग करें। आबकारी मंत्री द्वारा अखिलेश की तुलना राहुल गांधी से करने के जवाब में उन्होंने कहा कि कुछ लोगों को उनके स्वभाव के अनुसार मंत्रालय मिल जाता है। हालांकि मुझे यह नहीं कहना चाहिए।

अपने जवाब में फंसे अखिलेश

उन्होंने भाजपा को सेक्यूलर बताते हुए कहा कि इन्होंने वोट मस्जिद के लाउडस्पीकर उतारने को लेकर लिए थे। अब मंदिर के लाउडस्पीकर उतारकर वाहवाही लूटने में जुट गए हैं। मंदिरों से लाउडस्पीकर उतारने के हिन्दुस्थान समाचार के सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि मंदिर से लाउडस्पीकर उतारना गलत नहीं है। हम तो चाहते हैं कि सुप्रीम कोर्ट के नियमों का पालन किया जाए।

पकौड़े सरसों के तेल में तलें मिलावट से बचें

हालांकि पाम आयल की फैक्ट्रियों के वापस चले जाने के सवाल के जवाब में उन्होंने कहा की पकौड़े सरसों के तेल में ही अच्छे लगते हैं। मिलावट से बचें और स्वस्थ रहें। इस प्रकार उन्होंने भाजपा का समर्थन भी किया।