Wed. Aug 10th, 2022

एकल पीठ के फैसले के खिलाफ खंडपीठ पहुंचे झारखंड के तीनों विधायक


कोलकाता में बड़ी मात्रा में नगदी के साथ पकड़े गए थे झारखंड के तीन विधायक

तीनों विधायक मामले की जांच किसी केन्द्रीय एजेन्सी से कराने की कर रहे मांग

कोलकाता, 5 अगस्त (हि.स.)। हावड़ा जिला अंतर्गत पांचला थाना क्षेत्र में 49 लाख रुपये की नकदी के साथ पकड़े गए झारखंड के तीनों विधायकों ने एक बार फिर मामले की केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) जांच की मांग पर कलकत्ता हाई कोर्ट की एकल पीठ के फैसले के खिलाफ खंडपीठ में अपील की है। शुक्रवार को मुख्य न्यायाधीश प्रकाश श्रीवास्तव और राजर्षि भारद्वाज की खंडपीठ ने उनकी याचिका स्वीकार कर ली है।

इन विधायकों की मांग है कि घटना की जांच सीआईडी के बजाय सीबीआई अथवा किसी अन्य केंद्रीय निष्पक्ष एजेंसी से कराई जाए। विधायकों के अधिवक्ता ने दावा किया है कि सीआईडी ने मामले की जांच को राजनीतिक रंग देने की कोशिश की है और बिना किसी आधार इसे झारखंड की सरकार गिराने से जोड़ने संबंधी बयान जारी किए हैं।

इससे पहले गुरुवार को न्यायमूर्ति मौसुमी भट्टाचार्य की एकल पीठ ने दोनों पक्षों को सुनने के बाद सीबीआई जांच संबंधी मांग को खारिज कर करते हुए सीआईडी को निष्पक्ष जांच जारी रखने को कहा था। इसके खिलाफ शुक्रवार को मुख्य न्यायाधीश प्रकाश श्रीवास्तव और न्यायमूर्ति राजर्षि भारद्वाज की खंडपीठ में याचिका प्रस्तुत की। खंडपीठ ने याचिका स्वीकार करते हुए इस पर जल्द सुनवाई की सहमति दी है।