Mon. May 23rd, 2022

ऊर्जा मंत्री ने विद्युत उपकेन्द्र का औचक निरीक्षण कर दिया निर्देश


लखनऊ, 01 मई (हि.स.)। ऊर्जा एवं अतिरिक्त ऊर्जा स्रोत मंत्री ए.के.शर्मा ने जालौन ज़िले के 33 केवी विद्युत उपकेंद्र का औचक निरीक्षण किया। फ़ीडर ओवरलोड के लिए क्षमता विस्तार एवं सामान्य मेन्टिनेंस के कई मुद्दों पर ज़रूरी निर्देश दिए। आवश्यक उपकरणों के रख-रखाव एवं इसकी पर्याप्त उपलब्धता पर भी ध्यान देने पर जोर दिया। इस दौरान उन्होंने सभी रजिस्टर भी देखे और जरूरी आदेश दिये।

उन्होंने सम्बंधित कर्मचारियों व अधिकारियों को विद्युत फाल्ट एवं जर्जर लाइनों व पोलो तथा झूलते तारों को आवश्यकतानुरूप समय से ठीक करने तथा खराब ट्रांसफॉर्मर को समय से बदलने व रिपेयर करने के भी निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि हम सभी को जनता के दुःख-दर्द व समस्या को अपना समझ कर ध्यान देना है। उन्होंने निर्देशित किया कि 24×7 सभी अपने फोन चालू रखे और जनता से संवाद करने में तथा उनकी समस्याओं के समाधान में ढिलाई न बरतें। उन्होंने कहा है कि छुट्टियों में तथा रात में भी जरूरत पड़ने पर ईमानदारी से कार्य करेंगे।

ऊर्जा मंत्री ने कहा कि प्रदेश में विद्युत व्यवस्था सुचारू रहे, इसके लिए ऊर्जा विभाग युद्ध स्तर पर प्रयास कर रहा है। उन्होंने वर्तमान परिस्थिति की जानकारी देते हुए बताया कि विद्युत आपूर्ति बढ़ाने के हर सम्भव प्रयास हो रहे हैं। उन्होंने बताया कि कुछ स्रोतों से आज से अतिरिक्त बिजली मिलने की शुरुआत हो रही है। जिससे स्थिति बेहतर होगी।

विद्युत आपूर्ति बढ़ाने के क्रम में प्रदेश के सबसे अनपरा ताप विद्युत गृह (2630 मे0वा०) की इकाइयों के लिए 10 लाख मीट्रिक टन कोयला नार्दन कोल फील्ड लि० की खदानों से रेल के साथ-साथ रोड मार्ग से भी लाया जा सके, इसके लिए निर्णय लिया गया है। इसके अतिरिक्त कोयले की आपूर्ति से अनपरा उत्पादन गृह में कोयले का पर्याप्त भण्डारण बना रहेगा, जिसका उपयोग अवश्यकतानुसार विद्युत उत्पादन में किया जाएगा। ऊर्जा मंत्री ने यह भी निर्देशित किया है कि रेलवे के रेक जल्दी ख़ाली करने के प्रयास किए जायं जिससे वो कोयला लाने के लिए ज़्यादा फेरा कर सकें।