Thu. Feb 22nd, 2024

उप्र :कुशीनगर में शादी की रस्म के बीच स्लैब टूटने से कुएं में गिरे लोग, 13 की मौत


– हादसे में 25 लोग घायल बताए जा रहे, राहत व बचाव कार्य मे जुटा प्रशासन
कुशीनगर, 16 फरवरी (हि.स.)। उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में बुधवार रात शादी की खुशियों के बीच एकदम से मातम पसर गया। आपको बता दें कि, शादी समारोह के दौरान रस्म अदायगी के कुएं की स्लैब टूट गई और उसमें तीन दर्जन से अधिक लोग जा गिरी। हादसे में 13 लोगों की मौत हो गई और 25 लोग घायल बताए जा रहे हैं। इस बड़ी दुर्घटना से क्षेत्र में हड़कंप मच गया है। प्रशासन राहत कार्य करते हुए घायलों का इलाज कराने में जुट गया है।
कुशीनगर जनपद के नेबुआ नौरंगिया थाना क्षेत्र के अंतर्गत नौरंगिया गांव के नौरंगिया स्कूल टोला खास इलाके में परमेश्वर कुशवाहा के बेटे अमन की शादी समारोह से पहले हल्दी की रस्म चल रही थी। इसी दौरान महिलाओं की टोली नयन माता (कुएं) की पूजा के लिए कुएं पर गई थी। इस दौरान कुछ महिलाएं व बच्चे कुएं के ऊपर स्लैब पर खड़े हो गए। इसी बीच स्लैब टूट जाने से उस पर खड़े सभी लोग कुएं में गिर गए। इस हादसे से क्षेत्र में हड़कंप मच गया।
शादी समारोह में हुए हादसे की सूचना पर पहुची सम्बंधित थाना पुलिस ने आनन-फानन में ग्रामीणों के साथ राहत बचाव कार्य शुरू किया और कुएं में गिरे लोगों कर रेस्क्यू किया जाने लगा।
आपको बता दें कि, इस हादसे में 13 लोगों की मौत की सूचना है, जिसमें दो बच्चे भी शामिल हैं। वहीं 25 से अधिक लोग घायल बताए जा रहे हैं। फिलहाल अभी इस बात की कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं है। स्थानीय लोग एवं पुलिस ने लोगों का रेस्क्यू कर अस्पताल पहुंचाया है। घटनास्थल पर डीएम व एसपी मौजूद हैं। फिलहाल कुएं से सभी कर रेस्क्यू कर लिया गया है।
जिलाधिकारी एस राज लिंगम ने बताया कि जनपद में हुए एक बड़े हादसे के शिकार 1 बच्चे सहित 10 महिलाओं की डेड बॉडी जिला अस्पताल के मर्चरी हाउस में पहुंच गई। वहीं दो की इलाज के दौरान अस्पताल में मौत हो गई है। घटना स्थल व जिला अस्पताल पर पुलिस आवश्यक कार्यवाही में जुटी हुई है। उन्होंने पुलिस अधीक्षक सचिंद्र पटेल मौके पर पहुचकर जायजा लिया और जिला अस्पताल में मर्चरी हाउस का निरीक्षण किया, जहां शव रखे गए हैं।
डीएम ने कहा कि मृतकों के परिजनों को 4 लाख रुपये की आर्थिक सहायता प्रदान दी जाएगी। रेस्क्यू आपरेशन में जिनकी भी लापरवाही समाने आएगी उनके खिलाफ कार्रवाई होगी।
मां का साया उठा, अनाथ हुए
कुशीनगर में हुए हृदयविदारक घटना ने दर्जनों परिवारों की खुशियां छीन ली है तो वही कई मासूमों को उनकी मां का आंचल छीनकर अनाथ बना दिया। 16 फरवरी का दिन इन परिवारों को जिंदगी भर का गम दे गई। यह घटना बड़े हादसे के रूप में कुशीनगर कभी भूल नहीं पायेगा।