Tue. Sep 27th, 2022

उत्तर प्रदेश में बारिश का कहर, अब तक 15 लोगों की मौत


– राज्यपाल ने लखनऊ में हुई घटना का जताया शोक

– मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को दिए निर्देश प्रशासनिक अधिकारी करें सर्वेक्षण

– मौसम विभाग ने शुक्रवार और शनिवार को सतर्क रहने के निर्देश

लखनऊ, 16 सितम्बर (हि.स.)। उत्तर प्रदेश में भारी बारिश से कई जिलों में जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया। तीन दिन से हो रही बरसात के कहर से राजधानी लखनऊ समेत कई जिलों में अब तक 15 लोगों की जान गई है। कई लोग घायल हैं। राज्यपाल ने हादसे में हुई जनहानि पर अपना दुख प्रकट किया है। वहीं, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अधिकारियों को पीड़ितों को हर संभव मदद करने के निर्देश दिए है।

सर्वाधिक मौतें लखनऊ में हुई हैं, जबकि उन्नाव में तीन, कानपुर झांसी और रायबरेली में एक-एक लोगों की जान गई है। जबकि कई लोग घायल हुए हैं। मरने वालों में एक ही परिवार के पांच लोग शामिल हैं। सभी घायलों का इलाज आसपास के अस्पतालों में चल रहा है।

लखनऊ के कैंट स्थित दिलकुशा कॉलोनी में गिरी निर्माणाधीन दीवार के मलबे में दबकर तीन बच्चों समेत नौ लोगों की मौत हो गई। मृतकों में मूलरूप से झांसी के पप्पू (50), उनकी पत्नी मानकुंवर देवी (45), बेटा प्रदीप (28), बहू रेशमा (25),, पौत्री नैना उर्फ भारती (01), धर्मेन्द्र (28) और उसकी पत्नी चंदा (25) के अलावा दो बच्चे है हैं। इनमें दो लोगों की हालत गंभीर बनी हुई है। उनका इलाज अस्पताल में चल रहा है। मरने वालों में एक ही परिवार के पांच लोग शामिल है।

जनपद उन्नाव में विकास खण्ड असोहा के ग्राम कांधा में देर रात को बारिश की वजह से दीवार गिरने के कारण अंकित (20), अंकुश (04) और उन्नति (06) की मृत्यु हो गई है। जिसको लेकर जिलाधिकारी अपूर्वा दुबे, पुलिस अधीक्षक दिनेश त्रिपाठी मौके पर पहुंचकर मृत बच्चों के पिता ज्ञानचन्द्र रावत एवं माता कान्ती से घटना के संबंध में जानकारी ली। पीड़ित परिवार को सरकार की ओर से राहत की धनराशि उपलब्ध कराया जाने की कार्रवाई सरकार की ओर से की जा रही है।

रायबरेली में तेज बारिश के बीच शुक्रवार सुबह एक मकान की छत अचानक ढह गई। हादसे में महिला मंजू देवी (42 वर्ष), तीन बच्चे रजनी (6 वर्ष), रजत (10 वर्ष) और रजनीश (ढाई वर्ष) घायल हो गए है, जिन्हें इलाज के लिए असपताल में भर्ती कराया गया। डॉक्टरों ने रजनीश को मृत घोषित कर दिया है, जबकि अन्य तीन घायलों का इलाज चल रहा है।

झांसी के सीपरी बाजार थाना क्षेत्र के न्यू रायगंज में तेज बारिश से देररात को दो मंजिला मकान बीती देर रात को ढह गया और मलबे में राजाराम रायकवार उनकी पत्नी भगवती और पुत्र सुरेश दब गए। पुलिस टीम एवं फायर ब्रिगेड ने मलबे में फंसे सभी को घंटों की मशक्कत के बाद रेस्क्यू कर बाहर निकालकर मेडिकल कालेज भेजा गया। जहां उपचार के दौरान बेटे सुरेश ने दम तोड़ दिया। घटना की जानकारी जिलाधिकारी रविन्द्र कुमार व एसएसपी शिवहरी मीना अन्य प्रशासनिक अधिकारियों व पुलिस टीम के साथ पहुंचकर जायजा लिया और घायलों का समुचित उपचार कराने के निर्देश दिए।

कानपुर जिलें में जुही खलवा पुल पर पानी भरने की वजह से नाले में डूबने से एक युवक की मौत हो गई है। पुलिस के मुताबिक, यह हादसा देर रात को उस वक्त हुआ है जब बारिश हो रही थी। मृतक युवक की शिनाख्त का प्रयास किया जा रहा है।

उत्तर प्रदेश के मौसम विभाग का कहना है कि तीन दिनों से हुई बारिश से पिछले कई सालों का रिकार्ड टूट गया है। लखनऊ में कई जगहों पर जलभराव से जनजीवन प्रभावित हुआ है। घरों और कार्यालयों के अंदर पानी भर गया है। जगह-जगह पेड़, बिजली के पोल टूटने से सड़क जाम की भी समस्या देखने को मिली है। ऐसे में लखनऊ जिलाधिकारी सूर्यपाल गंगवार ने शुक्रवार को सभी बोर्डस के कक्षा 12 तक शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों के स्कूलों में अवकाश घोषित किया है। वहीं, उप्र मौसम विभाग ने शुक्रवार और शनिवार को अलर्ट किया है।

राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने जनपद लखनऊ के कैंट स्थित दिलकुशा में दीवार गिरने से हुई जनहानि पर गहरा दुःख व्यक्त किया है। उन्होंने दिवंगतों की आत्मा की शांति की कामना करते हुए शोकाकुल परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त की है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आपदा से हुई जनहानि से प्रभावित परिवारों को अनुमन्य राहत राशि अविलंब प्रदान किए जाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि जिन लोगों के घरों को नुकसान पहुंचा अथवा पशु हानि हुई, ऐसे प्रभावितों को तत्काल अनुमन्य वित्तीय सहायता प्रदान की जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कुछ जिलों में इस बारिश से फसलों को भी नुक़सान पहुंच सकता है। उन्होंने अधिकारियों को इसका सर्वेक्षण करने के भी निर्देश दिए हैं।