Wed. Sep 28th, 2022

उत्तराखंड अतिवृष्टि : एसडीआरएफ का दूसरे दिन भी सर्च जारी


-डीजीपी ने किया स्थलीय निरीक्षण, 409 अवरुद्ध सड़कों में से 135 को खोला गया

-ग्रामीणों के लिए वैकल्पिक संपर्क मार्ग जल्द तैयार करें : डीजीपी

देहरादून, 21 अगस्त (हि.स.)। देहरादून के मालदेवता, टिहरी सहित अन्य आपदा प्रभावित क्षेत्रों में बारिश से हुई अतिवृष्टि के बाद दूसरे दिन रविवार को एसडीआरएफ टीमों ने सर्च अभियान और राहत कार्य जारी हैं। डीजीपी ने आपदा प्रभावित क्षेत्रों का स्थलीय निरीक्षण कर रेस्क्यू ऑपरेशन जारी रखने के निर्देश दिए हैं।

आज प्रदेश में हल्की बारिश के साथ मौसम सामान्य रहने के आसार हैं। प्रदेश भर में अब तक अवरुद्ध 409 में से अभी 135 सड़कों को खोला जा चुका है। बाधित मार्गों को बहाल करने के लिए 278 जेसीबी तैनात की गई हैं।

रविवार को पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) अशोक कुमार, विधायक प्रीतम सिंह पंवार, जिलाधिकारी टिहरी गढ़वाल, गढ़वाल परिक्षेत्र, देहरादून और सेनानायक के साथ कुमाल्डा, सरखेत, मालदेवता और उसके आस-पास आपदा प्रभावित क्षेत्रों का स्थलीय निरीक्षण किया और राहत कार्यों को पूरी गंभीरता के साथ करने के दिशा -निर्देश दिए हैं। उन्होंने स्थानीय पुलिस के साथ रेस्क्यू और रिलीफ कार्यों का अवलोकन किया। साथ ही ग्रामीणों के लिए जल्द से जल्द राहत पहुंचाने, वैकल्पिक मार्ग तैयार करने और लापता चल रहे व्यक्तियों की निरंतर तलाश करने की बात कही।

गौरतलब है कि स्थानीय निवासी मनोज पयाल ने सर्वप्रथम डायल 112 पर कॉल कर इस प्राकृतिक आपदा के संबंध में सूचना दी थी। इस पर स्थानीय पुलिस मौके पर पहुंची। इसके बाद स्थानीय लोगों के साथ मिलकर रेस्क्यू कार्यों में पुलिस का सहयोग भी किया। इस मौके पर डीजीपी ने उनकी सतर्कता, साहस और सहयोग के लिए उन्हें धन्यवाद करते हुए कहा कि सम्मानित भी किया जाएगा।

मौसम विभाग की ओर से प्रदेश में आज मौसम सामान्य रहने के आसार हैं। देहरादून, बागेश्वर में कहीं-कहीं भारी बारिश की संभावना है। मौसम की बात करें तो आज देहरादून में सुबह सूर्यदेव बादलों के ओट में निकले। मौसम खुलने से राहत बचाव कार्य सहयोग मिल रहा है।

शनिवार को प्रदेश के देहरादून, पौ़ड़ी और टिहरी में बारिश ने भारी तबाही मचाई। अतिवृष्टि के कहर में 50 से अधिक मकान मलबे की चपेट में आ गए। दो पुल टूट गए और 250 से अधिक सड़कें मलबा आने से बंद हो गईं। इस दौरान 03 लोगों की मौत हो गई जबकि 12 लोग घायल हो गए। 41 से अधिक पशु हानि हुई है। देहरादून में 03 घायलों को मैक्स और 09 को हिमालयन अस्पताल जौलीग्रांट में भर्ती कराया गया है। इसके अलावा 13 लोग अभी भी लापता हैं। इनको खाेजने के लिए सर्च अभियान जारी है।

उत्तराखंड लोक निर्माण विभाग के नए प्रमुख अभियंता (एचओडी) अयाज अहमद ने बताया कि शनिवार और रविवार को कुल 409 बंद सड़कों में से 135 सड़कों को आज खोला गया है। रविवार को 91 सड़कें बंद हुईं। इन बंद सड़कों को खोलने के लिए प्रदेशभर में कुल 278 जेसीबी को तैनात किया गया। विभाग की ओर से सड़कों को खोलने में तेजी लाई जा रही है।

मालदेवता : सर्च जारी, 20 पर्यटकों को किया रेस्क्यू-

एसडीआरएफ टीम की ओर से आपदाग्रस्त मालदेवता क्षेत्र में पुनः रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया जा रहा है। आपदा पीड़ितों की सुरक्षा व सुगमता के दृष्टिगत टीम द्वारा बल्लियों की सहायता से पुल बनाया गया है। जंगल गदेरा रिसोर्ट में फंसे 24 पर्यटकों को सकुशल रेस्क्यू किया गया। गांव के स्थानीय लोगों को रेस्क्यू करने को वैकल्पिक पुल बनाकर सभी को सुरक्षित जगह पहुंचाया जा रहा है। प्रदेश में दो दिन में कुल 409 सड़कें बंद हुईं। इनमें से 135 सड़कों को आज खोला गया। सड़कों को खोलने के लिए 278 जेसीबी तैनात की गई हैं।

टिहरीः एसडीआरएफ टीम ग्वाड़ गांव में रविवार प्रातः पुनः सर्च ऑपरेशन को प्रारंभ किया। घटनास्थल पर 7 लोगों के दबे होने की सूचना थी। इसमें ग्रामीणों द्वारा दो शवों को निकाल दिया गया है। पांच अभी लापता हैं, जिनको टीम ने रात में सर्च ऑपरेशन चलाकर तलाश किया। देर रात तक कुछ पता नहीं चल पाया था। अंधेरा बढ़ने के कारण सर्चिंग में कठिनाई होने पर सर्च ऑपरेशन रोकना पड़ा था।