Tue. Jun 28th, 2022

इटली के तुरिन शहर में योगाभ्यास संग गूंजी राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की प्रार्थना


रोम, 21 जून (हि.स.)। अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर न सिर्फ भारत बल्कि पूरी दुनिया में योग से जुड़े आयोजन हुए हैं। ऐसे में इटली के तुरिन शहर की चर्चा जोरदार ढंग से हो रही है, जहां योगाभ्यास के साथ राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की शाखाओं में होने वाली प्रार्थना ‘नमस्ते सदा वत्सले मातृभूमि…’ की गूंज रही।

दरअसल 21 जून को योग दिवस के साथ राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के संस्थापक व प्रथम सर संघ चालक डॉ.केशव बलिराम हेडगेवार की पुण्य तिथि भी है और इस दिन दुनिया भर के स्वयंसेवक उन्हें याद कर श्रद्धांजलि अर्पित कर रहे हैं।

21 जून को दुनिया भर में अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के कार्यक्रम हो रहे हैं। इटली के तुरिन शहर में भी एक बड़े मैदान में योग दिवस कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। लोग पंक्तिबद्ध योग कर रहे थे। मंच पर एक योग गुरु के साथ भारतीय वेशभूषा में तीन महिलाएं भी योग करा रही थीं। इस दौरान मंच से उन तीनों महिलाओं ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की शाखाओं में नियमित होने वाली प्रार्थना ‘नमस्ते सदा वत्सले मातृभूमि…’ का सस्वर पाठ किया। प्रार्थना की स्वर लहरियों से वहां मौजूद योग करने वाले सभी लोग जुड़े रहे।

आयोजकों के मुताबिक मंगलवार को योग दिवस के साथ पूरी दुनिया को वसुधैव कुटुंबकम् के भारतीय संदेश के साथ और मजबूती से जोड़ने वाले राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के संस्थापक डॉ.केशव बलिराम हेडगेवार की पुण्य तिथि भी है। ऐसे में योग दिवस के साथ दुनिया भर में फैले संघ के स्वयंसेवक अपने प्रथम सरसंघचालक को श्रद्धांजलि भी अर्पित कर रहे हैं। ऐसे में योग के साथ संघ की प्रार्थना का सस्वर गायन उन्हें सच्ची श्रद्धांजलि तो है ही, यह आयोजन वैश्विक स्तर पर संघ और संघ की प्रार्थना की स्वीकार्यता का प्रतीक भी है।