Mon. Aug 8th, 2022

इंजीनियर के घर ईओयू की छापेमारी, 2.61 करोड़ की संपत्ति का पता चला


-इंजीनियर ने आय से 91.08 प्रतिशत अधिक संपत्ति अर्जित की

पटना, 01 अगस्त (हि.स.)।आर्थिक अपराध इकाई (ईओयू) ने बीती देर रात तक भवन निर्माण के इंजीनियर फिरोज आलम के पटना समेत 5 ठिकानों पर छापेमारी की। जिसमें दो करोड़ 61 लाख 82 हजार रुपये की संपत्ति का पता चला है। ईओयू ने जांच के दौरान पाया कि इनकी कुल संपत्ति आय से 91.08 प्रतिशत अधिक है।

आर्थिक अपराध इकाई ने पटना , दिल्ली समेत कुल पांच जगहों पर छापेमारी की। सुखदेव विहार स्थित फ्रेंड्स कॉलोनी में छापेमारी के दौरान 1.43 लाख रुपये कैश और सोने के जेवर बरामद किए हैं। ईओयू की टीम ने 58, सुखदेव विहार स्थित फ्लैट, जामियानगर के जौहरी फार्म स्थित बी-22 फ्लैट, बिहार निवास और बिहार सदन स्थित कार्यालय और फिरोज आलम के पटना के समनपुरा स्थित डैनियल मैन्सन के फ्लैट संख्या 205 में छापेमारी की।

छापेमारी में क्या-क्या मिला

कार्यपालक अभियंता सह रेसिडेंट इंजीनियर फिरोज आलम नई दिल्ली स्थित बिहार भवन और बिहार सदन में तैनात हैं। ईओयू के अधिकारियों ने बताया कि इंजीनियर ने दिल्ली में नूर नगर एक्सटेंशन और दिल्ली के सुखदेव नगर में पत्नी के नाम पर 1.30 करोड़ का फ्लैट खरीद रखा था।यही नहीं अपने भाई के नाम पर पटना के समनपुरा में फ्लैट खरीदा था। इंजीनियर ने अपने भतीजे के नाम एक कार खरीदा था, जिसे वे बिहार निवास में किराये पर चलवाते हैं।

दिल्ली के जौहरी बाग और शाहीन बाग में फ्लैट और मेरठ में फिरोज ने जमीन खरीदी है। दिल्ली स्थित आवास से 1.45 लाख रुपये कैश और लाखों रुपये के आभूषण बरामद किये गये हैं। इंजीनियर फिरोज आलम के बारे में बताया जाता है कि वे झारखंड के पलामू स्थित हरिहरगंज के रहने वाला है।

11 अप्रैल 1991 में जूनियर इंजीनियर के पद पर नियुक्त हुए थे। इस दौरान इनकी तैनाती दरभंगा और बिहारशरीफ में हुई। जब ये नौकरी में आए तब इनके पास सिर्फ पैतृक संपत्ति ही थी। लेकिन आज इंजीनियर फिरोज करोड़ों के मालिक हैं। ईओयू ने जांच के दौरान पाया कि इनकी कुल संपत्ति आय से 91.0 प्रतिशत अधिक है।