Wed. Feb 21st, 2024

आदित्यनाथ ने अपराधियों के संरक्षण पर सपा को घेरा


-करहल की रैली में भीड़ से गदगद दिखे योगी, शिवपाल को बताया बेचारा
-मैनपुरी जिले की सभी चार विधानसभा सीटों पर भाजपा की जीत का दावा
मैनपुरी, 18 फरवरी (हि.स.)। भाजपा के वरिष्ठ नेता एवं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को मैनपुरी जिले के करहल में अखिलेश यादव पर करारा हमला बोला। योगी ने यादव परिवार में चल रही खींचतान पर चुटकी ली। उन्होंने अखिलेश यादव के पारिवारिक कलह पर व्यंग्य किया तो पिछली सरकार में अपराधियों को मिले संरक्षण को लेकर सपा को कटघरें में भी खड़ा किया। आदित्यनाथ ने सपा के परिवारवाद को भी जोर-शोर से उठाया। योगी करहल की रैली में उमड़ी भीड़ से गदगद दिखे।
आदित्यनाथ ने कहा कि कल एक तस्वीर सामने आयी। वह तस्वीर देखकर मुझे तरस आ रही थी। बेचारे शिवपाल जो प्रदेश के बड़े नेता थे, कल उन्हें बैठने के लिए कुर्सी भी नहीं मिली तो मुंह लटकाए खड़े थे। क्या दुर्गति थी। मुझे बड़ा अफसोस हुआ। नेता जी का सिपहसालार हुआ करते थे। उनके पीछे हजारों लोग चला करते थे। कल उन बेचारे को बैठने के लिए कुर्सी तक नहीं मिली। उन्हें बैठने के लिए कुर्सी का हत्था मिला। आज के दिन किसी व्यक्ति की दुर्गति का जीता-जागता उदाहरण देखना है तो वह शिवपाल यादव हैं। योगी ने इस घटना का जिक्र कर क्षेत्र के लोगों को यह संदेश देने की कोशिश की कि जो अपने चाचा का नहीं हो सकते, वह अन्य यादवों या फिर पिछड़ों का क्या भला करेंगे।
योगी ने कहा कि नेता जी बहुत होशियार हैं। वह जानते हैं कि करहल की जनता फैसला कर चुकी है कि यहां के विधायक एसपी बघेल ही होंगे। तो नेता जी ने उस जनसभा में यहां की जनता से यही कहा कि भाई आप लोग तय कर लीजिए। जिसको चाहो उसी को अपना विधायक चुन लो। उसी बीच दूसरा व्यक्ति बोल उठा कि नाम बोल दीजिए, नाम बोल दीजिए। इस पर नेता जी कह रहे हैं कि यहां से सपा का कौन प्रत्याशी लड़ रहा है? मुझे तो पता ही नहीं है। मुख्यमंत्री ने कहा कि यह सपा की दुर्गति को प्रदर्शित करता है। मैनपुरी की सभी चार सीटों पर भाजपा जीत दर्ज करेगी। बावजूद इसके सजग रहना है।
योगी ने अखिलेश का नाम लिए बगैर कहा कि जिस दिन नामांकन करने करहल आए थे, तब कहा था कि अब प्रचार के लिए नहीं आएंगे। जीत का सर्टिफिकेट लेने ही आएंगे। भाजपा उम्मीदवार प्रो. एसपी बघेल ने पांचवें दिन ही उन्हें यहां आने पर मजबूर कर दिया। वह बौखलाए हुए हैं। परेशान हैं। ‘आसमान से टपके और खजूर में अटके’ वाली स्थिति हो गयी है। आप लोग बहुत बुद्धिमान हैं। फिर भी याद रखने वाली बात है। आजमगढ़ ने उन्हें (अखिलेश) सांसद चुना। कोरोना कॉल में वह एक बार भी आजमगढ़ नहीं गये।
उन्होंने कहा कि सपा के लोग बौखला गये हैं। करहल में अपनी हार को देखते हुए वह अब आपा खो चुके हैं। बघेल पर हुआ हमला, उनके कायराना हरकत को प्रदर्शित करता है। हालांकि चिंता करने की आवश्यकता नहीं है। याद करना हमने पांच साल में सपा के संरक्षण में पलने वाले पेशेवर गुंडे, अपराधियों के खिलाफ बिना किसी परवाह के कार्रवाई की है। आपको आश्वासन देने के लिए आया हूं कि इस वक्त बुल्डोजर को मरम्मत करने के लिए भेज दिया हूं। 10 मार्च के बाद प्रदेश में बुल्डोजर फिर से चलना प्रारम्भ होगा। जिन लोगों में ज्यादा गर्मी निकल रही है, 10 मार्च के बाद वह गर्मी भी शांत हो जाएगी।
आदित्यनाथ ने कहा कि हमें बताया जा रहा है कि सपा के लोग भाजपा कार्यकर्ताओं को धमका रहे हैं। यह धमकी बहुत दिन नहीं चल पाएगी। 10 मार्च के बाद भाजपा की सरकार बनने के बाद देखना कि प्रदेश में कैसे कानून का राज स्थापित हो रहा है। करहल की रैली में भीड़ से गदगद योगी ने कहा कि किसान, नौजवान, महिलाओं में जबरदस्त उत्साह है। प्रो. एसपी बघेल ने करहल में आकर विकास को नई गति देने का जो संकल्प लिया है, उससे सपा की चूलें हिल गयी हैं। आज पूरे प्रदेश में भाजपा की डबल इंजन की सरकार को समर्थन मिल रहा है। यह पांच साल की साधना का नतीजा है। केंद्र और प्रदेश की भाजपा सरकार ने बिना भेदभाव के सबको सरकारी योजनाओं का लाभ पहुंचाया। यही वजह है कि प्रदेश की जनता फिर से 300 पार सीटों के साथ भाजपा की सरकार बनाने जा रही है।