Sun. Jan 23rd, 2022

आइसोलेशन” ने दिखाई पुत्र के भुला दिए गए पिता के बेबसी की कहानी


बेगूसराय, 27 दिसंबर (हि.स.)। बेगूसराय जिला मुख्यालय स्थित दिनकर कला भवन के प्रेक्षागृह में सोशल एंड कल्चरल वेलफेयर आर्गेनाइजेशन द्वारा आयोजित तीन दिवसीय नाट्य महोत्सव के दूसरे दिन रविवार की रात संजय राज ”रोजी” द्वारा लिखित एवं निर्देशित नाटक ”आइसोलेशन” की शानदार प्रस्तुति की गई। अतिथि समेत कलाकार और तमाम दर्शकों ने एक साथ मिलकर अमर शहीदों की याद में खड़े होकर दो मिनट मौन धारण कर देश के वीर सपूतों को भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित कर नाटक की शुरुआत किया।

नाटक ”आइसोलेशन” अर्थात ”एकांत एवं अकेलापन” में सशक्त अभिनेता फैयाजुल हक ने एक अकेले बूढ़े पिता की पीड़ा को अपने एकल अभिनय से जीवंतता प्रदान कर दर्शकों को भावविभोर कर दिया। आइसोलेशन में 70-80 वर्षीय एक अकेले बूढ़े पिता की कहानी दिखाया गया है कि बच्चा योग्य हो जाने के बाद अपने माता-पिता को घर में अकेला छोड़कर नौकरी-पेशा के बेहतर भविष्य के लिए परदेश में जीवन जीने लगता है। वह जब अपने जन्मदाता माता-पिता को भूल जाता है तो अकेलापन महसूस कर रहे एक बुजुर्ग पिता की क्या हालात होती है। उन्हें किन-किन समस्याओं का सामना करना पड़ता है। यह सारी पीड़ाएं एक निरीह बुजुर्ग पिता के द्वारा काफी भावुकता के साथ व्यक्त किया गया। पूरे नाट्य प्रस्तुति में अभिनेता फैयाजुल हक ने एक बुजुर्ग पिता के चरित्र को सशक्तता प्रदान करने में सफल रहे। आइसोलेशन का प्रकाश परिकल्पना युवा रंगकर्मी रवि वर्मा तथा प्रकाश व्यव्यस्था में विशेष सहयोग मनोज कुमार ने किया, रूप-सज्जा एवं मुख-सज्जा डॉ. रंजीत कुमार सृष्टि का था। नाटक शुरू होने से पूर्व संस्था के संगीत प्रिय कलाकार अमन कुमार एवं रंजीत राय ने कवि दुष्यंत कुमार की प्रासंगिक रचनाओं तथा पारम्परिक लोकगीतों के गायन से दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर दिया, संगीत सहयोग नालवादक धर्मेंद्र कुमार एवं आकाश कुमार ने किया। इसके बाद को-ऑपरेटिव बैंक के अध्यक्ष नरेंद्र कुमार सिंह उर्फ धनकू, जिले के प्रथम एन.एस.डी. स्नातक अभिनेता सह मिथिला विश्वविद्यालय दरभंगा से नाट्यकला में स्नातकोत्तर रंगकर्मी हरीश हरिऔध, वरिष्ठ रंगकर्मी मनोरंजन कुमार मुन्ना और सुनील राय शर्मा ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम का उद्घाटन किया। उद्घाटन सत्र का संचालन सक्रिय युवा अभिनेता अमरेश कुमार ने किया।