Wed. Feb 21st, 2024

अरुणाचल प्रदेश के स्थानों के नाम बदलने की चीनी कवायत को भारत ने किया खारिज


नई दिल्ली, 04 अप्रैल (हि.स.)। भारत ने चीन द्वारा अरुणाचल प्रदेश के स्थानों का नाम बदलने के संबंध में कहा है कि पड़ोसी देश की यह हरकत नई नहीं है और इससे यथास्थिति में कोई बदलाव नहीं आने वाला है। अरुणाचल प्रदेश भारत का अभिन्न अंग है और आगे भी रहेगा।

मीडिया के सवालों के जवाब में विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने कहा, “हमने इस तरह की रिपोर्ट देखी है। यह पहली बार नहीं है जब चीन ने इस तरह का प्रयास किया है, हम इसे सिरे से खारिज करते हैं। अरुणाचल प्रदेश भारत का अभिन्न अंग है और रहेगा। अरुणाचल प्रदेश में स्थानों का नाम ईजाद करने से तथ्य नहीं बदलते।”

उल्लेखनीय है कि अरुणाचल प्रदेश पर चीन अपना दावा करता है। इस संबंध में उसने राज्य के कई स्थानों के चीनी नाम जारी किए हैं। इसे लेकर कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने केंद्र सरकार पर हमला बोला है। उन्होंने कहा है कि चीन ने तीसरी बार अरुणाचल में हमारे इलाकों के “नाम बदलने” का दुस्साहस किया है। उन्होंने कहा है कि 21 अप्रैल 2017 को 6 जगह, 30 दिसंबर 2021 को 15 जगह और 3 अप्रैल 2023 को 11 जगह के नाम बदलने की कोशिश की गई। अरुणाचल प्रदेश भारत का अभिन्न अंग है और रहेगा।