Thu. Aug 18th, 2022

(अपडेट) बेगूसराय : कर्ज वापसी के दबाव से परेशान छात्रा ने की आत्महत्या


बेगूसराय, 28 जुलाई (हि.स.)। बेगूसराय में पिता की बिमारी और आर्थिक तंगी से परेशान एक छात्रा ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर लिया। घटना नीमा चांदपुरा थाना क्षेत्र के चांदपुरा गांव की है, मृतक छात्रा चांदपुरा गांव निवासी गणेश महतो की पुत्री काजल कुमारी है।

घटना के संबंध में ग्रामीणों ने बताया कि काजल कुमारी के पिता गणेश महतो लीवर ट्यूमर से पीड़ित हैं तथा अपनी पत्नी के साथ इलाज कराने के लिए बरेली गए हुए हैं। यहां काजल कुमारी गांव में अपने छोटे भाई के साथ रहकर स्नातक प्रथम खंड में पढ़ाई एवं पारा मेडिकल की तैयारी कर रही थी। इलाज और परिवार चलाने के लिए माता-पिता ने स्वयं सहायता समूह (एसएचजी) से कर्ज लिया था। लेकिन बीमारी के कारण स्वयं सहायता समूह का किस्त समय पर जमा नहीं कर पा रहे थे तथा कई किस्त ड्यूज में चल रहा था।

कर्ज लौटाने का दबाव दिए जाने पर घर में रखा अनाज बेचकर उसने कुछ रकम चुकाया था। लेकिन कर्ज का किस्त सहित पूरा रकम जमा करने के लिए फाइनेंस कंपनी द्वारा काजल पर लगातार दबाव बनाया जा रहा था। लेकिन माता-पिता के इलाज में बाहर रहने से कर्ज चुकाने में काजल असमर्थ थी और इलाज के लिए पैसा नहीं पूरा होने पर बरेली में पिता का भी इलाज नहीं हो पा रहा। घर में भोजन की भी समस्या हो गई थी। इसी दबाव में आकर देर रात काजल ने अपने घर में ही फांसी लगाकर आत्महत्या कर लिया।

सोये भाई ने जगने पर जब बहन को फंदा में लटका देख कर हल्ला किया तो आसपास के लोगों की भीड़ जुट गई। घटना की सूचना मिलते ही पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल बेगूसराय भेज दिया तथा गंभीरता से जांच शुरू कर दी है। ग्रामीणों ने बताया कि काजल के एक भाई की मृत्यु पिछले वर्ष 27 जुलाई को पोखर में डूबने के कारण हो गई थी। इसके बाद भाई के निधन के मौत के ठीक एक साल पूरा होने की रात्रि में वह अपने घर में फंदा लगाकर झूल गई।

ग्रामीणों का कहना है कि काजल पढ़ने में काफी तेज थी तथा मैट्रिक एवं इंटर प्रथम श्रेणी से उत्तीर्ण किया था। वह कुछ बनना चाहती थी, लेकिन ईश्वर को कुछ और मंजूर था, पढ़ाई लिखाई में काफी तेज लड़की के असामयिक निधन से गांव में शोक की लहर छा गई है। घटना की सूचना मृतका के माता-पिता को दी गई है।