Tue. Jun 28th, 2022

(अपडेट) निलंबित आईएएस पूजा सिंघल को 14 दिनों की न्यायिक हिरासत


रांची, 25 मई (हि.स.)। मनी लांड्रिंग मामले में गिरफ्तार निलंबित आईएएस पूजा सिंघल की रिमांड की अवधि बुधवार को समाप्त हो गई। आईएएस पूजा सिंघल को ईडी के विशेष न्यायाधीश पीके शर्मा की अदालत में पेश किया गया। कोर्ट में पेशी होने के बाद आईएएस पूजा सिंघल को आठ जून तक के लिए होटवार जेल भेज दिया गया है।

जेल अधीक्षक हामिद अख्तर ने बताया कि कोर्ट से आर्डर आने के बाद आईएएस पूजा सिंघल जेल आएंगी, जहां पर सामान्य कैदी की तरह रहेंगी। उनके लिए कोई भी विशेष व्यवस्था नहीं की गई है। ईडी ने आज सुबह पूजा सिंघल का मेडिकल परीक्षण करवाया। डॉक्टरों की टीम ईडी के दफ्तर आई और जांच करने के बाद उन्हें पूरी तरह से फिट घोषित किया है।

पूजा सिंघल को पहली बार पांच दिन, दूसरी बार चार दिन और तीसरी बार पांच दिन के रिमांड पर लिया गया था। बुधवार को ही उनकी 14 दिनों की न्यायिक हिरासत भी पूरी हो रही थी।

उल्लेखनीय है कि गत छह मई को ईडी ने पूजा सिंघल के करीबियों के रांची और बाकी ठिकानों पर ताबड़तोड़ छापेमारी की थी। दरअसल, झारखंड में 2009-10 में मनरेगा घोटाला हुआ था। इस मामले में ईडी ने एक साथ झारखंड, पश्चिम बंगाल, हरियाणा और राजस्थान में रेड डाली थी। छापेमारी में 19 करोड़ 31 लाख रुपये बरामद हुए।

इनमें 17 करोड़ रुपये चार्टर्ड अकाउंटेंट सुमन कुमार सिंह के आवास से बरामद हुए थे। उस समय ईडी ने पूजा सिंघल के आवास के अलावा उनके पति के रांची में स्थित अस्पताल में भी रेड डाली थी। जांच एजेंसी को सिर्फ पैसे ही बरामद नहीं हुए, बल्कि कई अहम दस्तावेज भी हाथ लगे। इसके अलावा दोनों द्वारा कई फ्लैट में किए गए निवेश की बात भी सामने आई। करीब 150 करोड़ के निवेश के कागजात मिलने की बात कही गई थी।

कब-कब क्या हुआ

– 06 मई को ईडी ने पूजा सिंघल सहित अन्य लोगों के ठिकानों पर छापेमारी की।

– 07 मई को सीए सुमन कुमार सिंह को गिरफ्तार किया गया।

– 08 मई को ईडी ने पूजा सिंघल के पति अभिषेक झा से पूछताछ की।

– 10 मई को ईडी ने मनरेगा निधि के कथित गबन और अन्य वित्तीय अनियमितताओं से जुड़े मनी लांड्रिंग मामले में पूजा सिंघल से ईडी ने पूछताछ की।

– 11 मई को पूजा सिंघल को गिरफ्तार कर लिया गया।

-12 मई को पूजा सिंघल को निलंबित कर दिया गया।

-20 मई को पूजा सिंघल की रिमांड पांच दिनों के लिए और बढ़ा दी गयी।

-20 मई को सीए सुमन कुमार सिंह को होटवार जेल भेज दिया गया।

-24 मई को ईडी ने बिहार और झारखंड में सात ठिकानों पर छापेमारी की। इनमें से छह ठिकाने रांची और एक बिहार के मुजफ्फरपुर में है। रांची और मुजफ्फरपुर में पूजा सिंघल के करीबी माने जाने वाले विशाल चौधरी और निशित केशरी के ठिकानों पर छापेमारी की थी, जहां से करोड़ों के दस्तावेज बरामद किये गये। इसके बाद विशाल चौधरी को हिरासत में ले लिया गया था। हालांकि, पूछताछ के बाद उन्हें छोड़ दिया गया।

रांची में ईडी की टीम आईएएस राजीव अरुण एक्का के करीबी बिल्डर निशित केसरी के ठिकानों पर भी छापेमारी की। निशित केसरी ने हाल के दिनों में हरमू, अशोक नगर और कटहल मोड़ रोड पर कई बड़े अपार्टमेंट बनाये हैं। इससे पहले ईडी की टीम ने विशाल चौधरी और बिल्डर अनिल झा के ठिकानों पर छापेमारी की थी। विशाल चौधरी का अशोक नगर रोड नंबर 6 में घर है। यहां छापेमारी में ईडी की टीम को कई महत्वपूर्ण दस्तावेज मिले हैं।

-25 मई 2022 पूजा सिंघल आठ जून तक न्यायिक हिरासत में रहेंगी