Thu. Aug 18th, 2022

अजर्बेजान और आर्मीनिया में भिड़ंत, गोलीबारी व बमबारी में कई सैनिकों की मौत


येरेवान/बाकू, 04 अगस्त (हि.स.)। कभी सोवियत संघ का हिस्सा रहे पड़ोसी मध्य एशियाई देश अजर्बेजान और आर्मीनिया में एक बार फिर भिड़ंत हो गयी है। जबर्दस्त गोलीबारी व बमबारी में कई सैनिकों की मौत हो गयी है। अजरबैजान ने तुर्की से मिले ड्रोन से आर्मीनिया के कई हथियारों को तबाह कर दिया।

यूक्रेन पर रूस के हमले के बाद युद्ध अब तक चल ही रहा है कि सोवियत संघ से अलग हुए दो पड़ोसी देशों अजर्बेजान व आर्मीनिया के बीच भी युद्ध के हालात बन रहे हैं। अजर्बेजान ने आर्मीनिया पर गोलीबारी का आरोप लगाते हुए आर्मीनिया के कई इलाकों पर बमबारी कर नागर्नो-कराबाख के कई इलाकों पर कब्जा कर लिया है। अजरबैजान का कहना है कि आर्मीनिया के सशस्त्र गुटों ने उसके तीन सैनिकों को मार डाला है। इसलिए उसने जवाबी कार्रवाई करते हुए हमला किया है। अजरबैजान ने तुर्की से मिले ड्रोन से आर्मीनिया के कई हथियारों को तबाह कर दिया। झड़प में दोनों देशों के कुछ सैनिकों के मारे जाने की भी खबर है।

दरअसल, दोनों पड़ोसी देश पूर्ववर्ती सोवियत संघ का हिस्सा थे। जब 1980 के दशक में सोवियत संघ का पतन हुआ तो दोनों देशों अलग हो गए। 1991 में भी दोनों देशों के बीच झड़प हुई थी। तब रूस ने दोनों के बीच संघर्ष विराम कराया था लेकिन उसके बाद भी कई बार दोनों देशों में झड़प होती रहती है। नागर्नो-काराबाख इलाके को लेकर आर्मीनिया और अजरबैजान में लंबे समय से तनातनी चल रही है। इसे लेकर एक बार फिर दोनों देश भिड़ गए हैं। रूस का आरोप है कि अजरबैजान ने नागर्नो-कराबाख के विवादित इलाके में शस्त्र विराम का उल्लंघन किया है।