Fri. Jul 1st, 2022

‘अग्निवीर’ नौकरी के दौरान एनआईओएस से पा सकेंगे 12वीं का प्रमाण-पत्र : शिक्षा मंत्रालय


नई दिल्ली, 16 जून (हि.स.)। केंद्र सरकार की अग्निपथ योजना के तहत 10वीं पास ‘अग्निवीर’ नौकरी के दौरान राष्ट्रीय मुक्त विद्यालयी शिक्षा संस्थान (एनआईओएस) से 12वीं कक्षा का प्रमाण पत्र प्राप्त कर सकेंगे। यह प्रमाण-पत्र पूरे देश में नौकरी और उच्च शिक्षा के लिए मान्य होगा।

केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय ने गुरुवार को एक विज्ञप्ति जारी कर कहा कि स्कूल शिक्षा और साक्षरता विभाग अपने स्वायत्त संस्थान, राष्ट्रीय मुक्त विद्यालयी शिक्षा संस्थान (एनआईओएस) के माध्यम और रक्षा अधिकारियों के परामर्श से एक विशेष कार्यक्रम शुरू कर रहा है, जो 10वीं पास अग्निवीरों को अपनी शैक्षणिक योग्यता को बढ़ाने में सहायक होगा। इसके लिए अनुकूल पाठ्यक्रम विकसित किया जाएगा। 12वीं का यह प्रमाणपत्र पूरे देश में रोजगार और उच्च शिक्षा दोनों उद्देश्यों के लिए मान्यता प्राप्त होगा।

इससे अग्निवरों को जीवन में बाद में समाज में उत्पादक भूमिका निभाने के लिए पर्याप्त शैक्षिक योग्यता और कौशल हासिल करने में मदद मिलेगी। एनआईओएस का यह विशेष कार्यक्रम नामांकन, पाठ्यक्रमों के विकास, छात्र सहायता, स्व-शिक्षण सामग्री के प्रावधान, अध्ययन केंद्रों की मान्यता, व्यक्तिगत संपर्क कार्यक्रम, मूल्यांकन और प्रमाणन की सुविधा प्रदान करेगा।

केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने सिलसिलेवार ट्वीट कर कहा कि स्कूल शिक्षा और साक्षरता विभाग 10वीं कक्षा पास अग्निवीरों को उनकी शैक्षणिक योग्यता को बढ़ाने का मौका देगा। राष्ट्रीय मुक्त विद्यालयी शिक्षा संस्थान (एनआईओएस) के माध्यम से 12वीं पास प्रमाणपत्र प्राप्त करने के लिए रक्षा मंत्रालय के परामर्श से एक विशेष कार्यक्रम शुरू करेगा।

उन्होंने कहा कि अग्निवीरों के लिए स्कूल शिक्षा और साक्षरता विभाग द्वारा रक्षा मंत्रालय के परामर्श से एक विशेष प्रोग्राम आरम्भ करने की पहल स्वागत योग्य कदम है। इसके तहत 10वीं पास अग्निवीर अपनी शिक्षा को आगे बढ़ाते हुए राष्ट्रीय मुक्त विद्यालयी शिक्षा संस्थान (एनआईओएस) के माध्यम से 12वीं कक्षा का सर्टिफिकेट प्राप्त कर सकते हैं।

प्रधान ने कहा कि एनआईओएस का 12वीं पास प्रमाण-पत्र पूरे देश में नौकरी और उच्च शिक्षा दोनों उद्देश्यों के लिए मान्यता प्राप्त है जो अग्निवीरों को जीवन में प्रगति के लिए विभिन्न अवसर प्रदान करेगा। उन्होंने कहा कि केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय अग्निपथ योजना को आगे बढ़ाने के लिए प्रतिबद्ध है। अग्निवीर उच्च शैक्षणिक योग्यता और कौशल हासिल करके समाज में रचनात्मक भूमिका निभाएंगे।

उल्लेखनीय है कि रक्षा मंत्रालय ने हाल ही में अग्निपथ योजना की घोषणा की है। यह तीनों सेनाओं में भर्ती के लिए अखिल भारतीय योग्यता-आधारित योजना है। इसके तहत, युवाओं को सशस्त्र बलों में अग्निवीर के रूप में सेवा करने का अवसर प्रदान किया जाएगा। यह युवाओं को प्रशिक्षण अवधि सहित 4 साल की अवधि के लिए सशस्त्र बलों के नियमित कैडर में सेवा करने का अवसर प्रदान करेगी। अग्निवीरों की भर्ती 17.5 से 21 वर्ष की आयु के बीच की जाएगी। 10वीं अथवा 12वीं पास उम्मीदवार भर्ती प्रक्रिया के लिए आवेदन कर सकते हैं।