Tue. Jun 28th, 2022

‘अग्निपथ’ सैन्य भर्ती योजना नोटबन्दी की तरह: मायावती


-बसपा अध्यक्ष मायावती ने अग्निपथ योजना पर संकीर्ण सियासत बंद करने की बात की

लखनऊ, 20 जून (हि.स.)। देश की सेना ने भले ही स्पष्ट कर दिया हो कि अग्निपथ योजना वापस नहीं ली जाएगी, लेकिन राजनीतिक दल सियासत करने से बाज नहीं आ रहे हैं। कांग्रेस और समाजवादी पार्टी जैसे दल मुखर होकर इस योजना का विरोध कर रहे हैं। वहीं बहुजन समाज पार्टी (बसपा) प्रमुख मायावती ने अग्निपथ योजना की नोटबंदी से तुलना की है।

बसपा अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने सोमवार को ट्वीट कर कहा कि केन्द्र की अग्निपथ नई सैन्य भर्ती स्कीम देश की सुरक्षा व फौजी के आत्म-सम्मान व स्वाभिमान से जुड़ी होने के बावजूद भाजपा नेतागण जिस प्रकार से अनाप-शनाप व अनर्गल बयानबाजी कर रहे हैं, वह घोर अनुचित है। जनता में भ्रम व सेना के लिए मुश्किलें पैदा करने वाली संकीर्ण राजनीति तुरन्त बंद हो।

मायावती ने कहा कि देश को अचंभित करने वाली नई ‘अग्निपथ’ सैन्य भर्ती योजना, सरकार की नोटबन्दी व तालाबन्दी की तरह ही है। यह योजना अचानक व काफी आपाधापी में थोपी जा रही है। इससे प्रभावित होने वाले करोड़ों युवा व उनके परिवार वालों में खासा आक्रोश है। सरकार इनके प्रति भी अहंकारी रवैये से बचें।