Fri. Jul 1st, 2022

अग्निपथ की आंच वाराणसी पहुंची, उपद्रव, वाहनों के शीशे तोड़े


वाराणसी,17 जून (हि.स.)। अग्निपथ योजना (सेना में भर्ती को लेकर बदले प्रारूप ) के बिहार से शुरू हिंसक विरोध की आंच शुक्रवार को वाराणसी भी पहुंच गई। पूर्वांचल के अलग-अलग जिलों से समूह में कैंट स्टेशन के बाहर जुटे युवकों ने जमकर हंगामा किया। युवकों ने रोडवेज,चौकाघाट और इंग्लिशिया लाइन में वाहनों पर पथराव किया। इसकी जानकारी पाते ही अफसर फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे और युवकों को वहां से हटाया। बवाल की आशंका देख जगह-जगह भारी फोर्स तैनात है। जिले की सीमाओं पर मजिस्ट्रेट तैनात किए गए हैं।

बवाल की आशंका के मद्देनजर देररात वाराणसी परिक्षेत्र के मंडलायुक्त दीपक अग्रवाल की अध्यक्षता में प्रशासन व पुलिस के अधिकारियों के बीच समन्वय बैठक में अवांछनीय तत्वों के साथ ही सोशल मीडिया पर निगरानी बढ़ाए जाने की रणनीति बनाई गई। बैठक के बाद प्रशासन और पुलिस की ओर से संयुक्त अपील जारी की गई। इसके बावजूद दूसरे जिलों से अलसुबह ही शहर में जुटे युवाओं ने कैंट स्टेशन और रोडवेज के पास हंगामा किया। युवकों ने रोडवेज बस स्टैंड,चौकाघाट और लहरतारा इलाके में वाहनों पर पथराव किया। कैंट रेलवे स्टेशन में रेल पटरियों में आग लगा दी। मौके पर पहुंचे सुरक्षा बलों ने उन्हें खदेड़ आग को बुझा दिया।

पुलिस कमिश्नर ए सतीश गणेश ने बताया कि सभी थानेदारों को अलर्ट किया गया है। छावनी स्थित सेना भर्ती कार्यालय पर भी सतर्कता बढ़ा दी गई है। सेना के आंतरिक सूचना तंत्र को बाहर की गतिविधियों पर नजर रखने के लिए निर्देशित किया गया है। रेलवे स्टेशनों पर प्रदर्शन की आशंका को देखते हुए आरपीएफ, जीआरपी को अलर्ट किया गया है।