Fri. Jul 1st, 2022

अंतरराष्ट्रीय योग दिवसः उप्र में 75 हजार स्थानों पर साढ़े तीन करोड़ लोग करेंगे योग


-काशी के 75 घाटों पर योग दिवस के होंगे बड़े कार्यक्रम

-अयोध्या में राम की पैड़ी पर भी कार्यक्रम का आयोजन

लखनऊ, 20 जून (हि.स.)। अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर मंगलवार को उत्तर प्रदेश में 75 हजार स्थानों पर साढ़े तीन करोड़ लोग योग करेंगे। इस बार प्रदेश की 58 हजार ग्राम पंचायतों और 14 हजार नगरीय वार्डों में योग के कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। इसके अलावा प्रदेश की पवित्र नदियों एवं सरोवरों के साथ ही ऐतिहासिक, पौराणिक एवं धार्मिक स्थलों और स्कूल-कॉलेजों में भी योग दिवस के कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। यह जानकारी प्रदेश के आयुष मंत्री दयाशंकर मिश्र ‘दयालु’ ने दी है।

आयुष मंत्री दयाशंकर मिश्र ने सोमवार को हिन्दुस्थान समाचार को बताया कि काशी के 75 घाटों पर योग दिवस के बड़े कार्यक्रम किए जाएंगे। अयोध्या में राम की पैड़ी पर योग दिवस का बड़ा कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा। लखनऊ स्थित राजभवन में मुख्य कार्यक्रम होगा। यहां पर राज्यपाल, मुख्यमंत्री और आयुष मंत्री योग करेंगे। इसके अलावा रेजीडेंसी में भी योग दिवस पर कार्यक्रम होगा।

मंत्री ने बताया कि अंतरराष्ट्रीय योग सप्ताह के तहत अब तक प्रतिदिन डेढ़ करोड़ लोग योग से जुड़े। मंगलवार को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर दो करोड़ लोगों को और योग से जोड़ा जाएगा। यानी योग दिवस पर प्रदेश में कुल साढ़े तीन करोड़ लोग योग करेंगे। प्रदेश में 58 हजार ग्राम पंचायतों, 14 हजार वार्डों और तीन हजार ऐतिहासिक, पौराणिक एवं धार्मिक स्थलों को मिलाकर कुल 75 हजार स्थानों पर योग दिवस के बड़े कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे।

आयुष मंत्री ने कहा कि योग व्यक्ति को निरोग रखने में सहायक है। निरोगी व्यक्ति ही अपने परिवार, समाज एवं राष्ट्र का भला कर सकता है। योग अब गिरि कंदराओं से निकलकर जनसुलभ हो चुका है और समाज से जुड़ चुका है। उम्र की कोई सीमा नहीं रही। हर उम्र के लोग योग कर सकते है। आयुष मंत्री ने कोरोना महामारी का उल्लेख कर कहा कि जिस रोग की दुनिया में कोई दवा नहीं थी उस दौरान हमारा आयुष का काढ़ा दुनिया में उपयोग किया गया। दूध में हल्दी आज सारी दुनिया पी रही है।

जिलों में जाएंगे प्रभारी मंत्री

योग दिवस पर प्रदेश के सभी जिलों में होने वाले कार्यक्रम में सभी प्रभारी मंत्री अपने-अपने जिलों में जाएंगे। इसके अलावा स्थानीय सांसद एवं विधायक भी अपने-अपने क्षेत्रों में योग दिवस के कार्यक्रम में हिस्सा लेंगे। केंद्र सरकार द्वारा चयनित प्रदेश के छह स्थलों- सारनाथ, रेजीडेंसी लखनऊ, राम की पैड़ी अयोध्या, कुशीनगर, फतेहपुर सीकरी और हस्तिनापुर में बड़े आयोजन किए जाएंगे। इसमें केंद्रीय मंत्री मौजूद रहेंगे। इसी तरह राज्य सरकार द्वारा राजभवन, संगम तट प्रयागराज, झांसी किला, मथुरा, मां विंध्यवासिनी धाम परिसर, गोरखनाथ मंदिर परिसर, नैमिषारण्य, काशी विश्वनाथधाम परिसर, बिठूर, चित्रकूट, श्रावस्ती और अक्षय वट वाटिका मुजफ्फरनगर के धार्मिक, ऐतिहासिक एवं सांस्कृतिक महत्व के स्थलों पर मुख्य योगाभ्यास होगा।