Sun. May 22nd, 2022

अंतरराष्ट्रीय मंच पर भारत सशक्त हुआ है: महेश चन्द्र


हरदोई,26 दिसंबर(हि.स.)। ‘पुण्यात्मा गिरीश चन्द्र वाजपेयी स्मृति व्याख्यानमाला’ की पंद्रहवीं कड़ी को संबोधित करते हुए राज्य सभा के संयुक्त सचिव महेश चन्द्र तिवारी ने सारगर्भित व्याख्यान देते हुए अंतर्राष्ट्रीय क्षितिज पर भारत की मज़बूत हो रही स्थिति की सराहना की। उन्होंने कहा कि भारत ने अपने विकास कार्यक्रम चलाकर न केवल अपनी वित्तीय स्थिति को मज़बूत किया है, वहीं सैन्य शक्ति को बेहतर बनाकर अंतर्राष्ट्रीय मंच पर भी भारत सशक्त हुआ है।

श्री तिवारी ने पुष्पगिरी सभागार में ‘अंतर्राष्ट्रीय क्षितिज पर भारत’ विषय पर व्याख्यान देते हुए बताया कि भारत और पाकिस्तान एक साथ आज़ाद हुए इसके बावजूद भारत सशक्त है वहीं पाकिस्तान बिखरने की कगार पर है। ऐसे कई उदाहरण हैं, जिनके द्वारा अंतर्राष्ट्रीय क्षितिज पर भारत की मजबूती दिखती है। उन्होंने कहा कि 1955 में भारत को सुरक्षा परिषद का सदस्य बनने का मौका मिला था पर अकेले चीन के कारण भारत को मजबूर होना पड़ा और वर्ष 1962 में चीन का हमला सहना पड़ा। वर्तमान समय में देश की बदलती विदेश नीति के कारण भारत ने चीन को पीछे धकेलकर अंतर्राष्ट्रीय क्षितिज पर स्वयं को सिद्ध किया है। उन्होंने कहा कि आज विश्व के देश यह मानते हैं कि चाहे प्राकृतिक आपदाएं हों या कोरोना महामारी भारत बिना किसी स्वार्थ के विश्व के दूसरी देशों की मदद करता है।

कार्यक्रम का प्रारंभ राज्यसभा के संयुक्त सचिव महेश चन्द्र तिवारी तथा उपस्थित गणमान्य नागरिकों ने पुण्यात्मा गिरीश चन्द्र वाजपेयी के चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित की। इसके बाद प्रतिबिम्ब अध्यक्ष अरुणेश वाजपेयी ने मुख्य वक्ता व अन्य आगत अतिथियों का स्वागत किया। पुण्यात्मा गिरीश चन्द्र वाजपेई का परिचय अधिवक्ता संघ के मंत्री कर्मवीर सिंह चौहान ने दिया तो वहीं मुख्य वक्ता का परिचय वरिष्ठ पत्रकार महेश मिश्र ने दिया। व्याख्यान के बाद श्री तिवारी ने डॉ. आलोक टंडन, आर. के. पाण्डेय, आकृति श्रीवास्तव व शीला पाण्डेय द्वारा उठाई गई। जिज्ञासाओं को शांत किया। कार्यक्रम का संचालन प्रतिबिम्ब के महासचिव अनिल श्रीवास्तव ने किया।
यहां उल्लेखनीय है कि प्रत्येक वर्ष प्रतिबिम्ब द्वारा प्रदान की जाने वाली प्रतीक वाजपेयी स्मृति छात्रवृत्ति इस बार चयनित शोधार्थी अभिषेक कुमार को प्रदान की गई। इसके तहत दस हज़ार रुपये का ड्राॅफ्ट एवं प्रमाण पत्र देकर राज्यसभा के संयुक्त सचिव महेश चन्द्र तिवारी ने उन्हें प्रोत्साहित किया।